बीजेपी के विधायक बल खा रहे है गालियां , तो काग्रेस ने खूब रुपया ले कर बल बाटे टिकट !

ख़बर हरिद्वार से है जहा निकाय चुनाव के लिए बीजेपी और कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों ने अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है. इसके बाद से ही BJP-कांग्रेस में अंतर्कलह खुलकर सामने आ रही है. कुछ कार्यकर्ता नारजगी के चलते दूसरी पार्टी का दामन थाम रहे हैं तो कुछ गाली-गलौज और मारपीट पर उतारू हो गए हैं. हरिद्वार में भी टिकट बटवारे की वजह से बीजेपी MLA देशराज कर्णवाल को बीच सड़क कार से उतारकर कार्यकर्ताओं ने गालियां दी.
दरअसल, सोमवार रात बीजेपी विधायक देशराज कर्णवाल अपनी कार से झबरेड़ा के एक कार्यक्रम में शिरकत करने जा रहे थे. इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने विधायक को बीच सड़क कार से उतारा और उनके खिलाफ नारेबाजी करना शुरू कर दिया.

विरोध करते हुए कुछ कार्यकर्ताओं ने विधायक के साथ धक्का-मुक्की भी की और कुछ ने गालियां भी दी. खुद को शांत रखते हुए विधायक इस हंगामे की दौरान मुस्कुराते रहे, जिसे देख कार्यकर्ताओं का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंचा और उन्होंने और ज्यादा हो-हल्ला करना शुरू कर दिया.
बीजेपी कार्यकर्ताओं का कहना है कि मानवेंद्र बेहद खराब व्यक्ति है उसे टिकट नहीं दिया जाना चाहिए था. वो पार्टी कार्यकर्ताओं से ही बदतमीजी करता है इसलिए ऐसे असभ्य व्यक्ति को टिकट देना गलत है.
बता दें कि पार्टी कार्यकर्ता बीजेपी से मानवेंद्र चौधरी को टिकट दिए जाने से काफी नाराज हैं. नगर पंचायत से मानवेंद्र प्रताप को टिकट दिलाने की पैरवी करने की वजह से विधायक देशराज कर्णवाल का हाथ होने की वजह से कार्यकर्ताओं ने विधायक का विरोध किया
वही कांग्रेस के दो दिग्गज नेताओं की वायरल हुई एक ऑडियो में कांग्रेस में वार्ड सदस्यों के टिकट वितरण के सच उजागर कर दिया है। टिकट मांगने वालों को कभी देहरादून तो कभी दिल्ली से टिकट फाइनल होने की बात कही जा रही थी, लेकिन ऑडियो में साफ सुना जा सकता है कि दोनों नेताओं ने किस तरीके से टिकटों का वितरण किया। चर्चा में आए दोनों ने इस मामले पर दिनभर सफाई देते रहे।

पिछले कई दिनों से कांग्रेस में हरिद्वार नगर निगम पार्षद के प्रत्याशी तय करने को लेकर मारामारी मची हुई थी। कई जगह एक वार्ड से कई दावेदार थे। ऐसे दावेदारों से जान छुड़ाने के लिए पार्टी के नेता कभी देहरादून तो कभी दिल्ली से टिकट फाइनल होने की बात कर रहे थे।

इस बीच रविवार की शाम जारी एक ऑडिया ने कांग्रेस में घमासान मचा दिया है। इस ऑडियो पूर्व विधायक अंबरीष कुमार और कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष संजय पालीवाल वार्डवार प्रत्याशियों के बारे में चर्चा करते सुनाई दे रहे हैं।
पार्टी हाईकमान को भी यह ऑडियो भेजा गया
संजय पालीवाल जहां दावेदारों के नाम पढ़कर सुनाते रहे, वहीं अंबरीष कुमार टिकट देने या न देने पर चर्चा करते रहे। जहां पालीवाल सहमत नहीं दिखे वहां वे भी आपत्ति जताते दिखाई दे रहे हैं। एक एक कर सभी वार्डों के टिकट दोनों नेताओं ने आपसी चर्चा में ही फाइनल कर दिए।

एक जगह तो डा. संजय पालीवाल ज्वालापुर के एक वार्ड से अपने समर्थक दिनेश पुंडीर को टिकट दिए जाने की वकालत करते हुए यह भी कहते हुए सुने जा रहे हैं कि उन्होंने जब चाहा दिनेश पुंडीर को रावत के खिलाफ प्रयोग किया।

ऐसे में उसे टिकट देना उनकी मजबूरी है। वह किस रावत के बारे में कह रहे हैं वह इस ऑडियो में स्पष्ट नहीं है। टिकट पाने से वंचित रहे कार्यकर्ता दोनों नेताओं पर मनमानी करने का आरोप लगा रहे हैं।

पार्टी हाईकमान को भी यह ऑडियो भेजा गया है। जबकि पूर्व विधायक अंबरीष कुमार और संजय पालीवाल ने कहा कि ऑडियो में जो भी बातें हैं वह सामान्य चर्चा है। कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है। साथ ही इस बात की भी तलाश दिनभर होती रही कि ये ऑडियो आखिर रिकॉर्ड किसने किया। क्योंकि उस समय कक्ष में केवल तीन ही लोग मौजूद थे।
इससे पहले जहा बीजेपी के अध्यक्ष अजय भट्ट के साथ बीजेपी के कार्यकताओं ने ठीक व्यवहार नही किया तो ऋषिकेश के विधयाक भी गुस्से में बहुत कुछ बोल गए थे बल ।
दुसरी तरफ कांग्रेस भवन में तो थपड़ तक बजे कार्यकर्ताओ पर। पहले दिन राजेन्द्र शाह का ड्रामा दूसरे दिन थप्पड़ मार वाले काम तक हुए। कुल मिलाकर बीजेपी और कांग्रेस के कही कार्य कर्ताओं ने राजनीतिक दल बदल लिए है तो कही टिकट ना मिलने की वजह से निर्दलीय मैदान मे है ।यहा तक कि कांग्रेस पर तो ये आरोप भी कांग्रेस के कार्यकर्ताओ ने लगा दिया कि रुपैया ले ले कर कांग्रेस ने टिकट दिए।


बहराल घपरोल दोनों ही राजनीतिक दल में मचा हुवा है । जिसका फायदा निर्दलीय उम्मीदवार जमकर उठा रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here