नामांकन के दिन ही भाजपा के गामा जनता की नज़र में फेल! सुनील गामा ने भरा नामांकन , सरकार थे साथ मे

देहरादून से भाजपा के मेयर पद के प्रत्याशी सुनील उनियाल गामा ने सोमबार को भरा नामांकन
ख़बर विस्तार से नामांकन के दूसरे दिन सोमवार को दोपहर लगभग एक बजे भाजपा के देहरादून से मेयर पद के प्रत्याशी सुनील उनियाल गामा नगर निगम पहुंचे और ओर उन्होंने नामाकंन पत्र भरा। वहीं आज दिनभर प्रत्याशियों की नामांकन रैलियों के चलते शहर भर में जाम की स्थिति बन गई।

आपको बता दे कि वह समर्थकों की भारी भीड़ के साथ नामांकन भरने पहुंचे। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट, विधायक गणेश जोशी, वरिष्ठ नेता मुन्ना सिंह चौहान सहित अन्य भाजपा नेता मौजूद रहे। वहीं 11 पार्षदों ने भी देहरादून में नामांकन किया।  
आज देहरादून की सड़कों पर चलने वाली जनता नाराज दिखी , तो वही चाय से लेकर पान वाले तक कि दुकान हो या परचून वालो कि वहाँ पर मौजूद लोगों से बोलता उतरखंण्ड ने लगभग 50 लोगो से अलग अलग जगह पर बात की उस दोरान हमने लोगो की राय ली जिसमे लोग कहते नज़र आये की देहरादून की जनंता जाम के झाम से परेशान है ।

इन नेताओं को ये दिखता नही जो इस भी इस बार मेयर बनेगा उसे सोचना नही करके दिखाना होगा कि जाम से निजात कैसे दिलाया जाय दूंन कि जनता को , बस इसके बाद तो लोग बोल रहे थे क्योकि उनके सामने से सुनील गामा की पद यात्रा नामंकन के लिए जा रही थी । बस फिर क्या था लोग बोले कि अब इनको ही देखो मेयर के दावेदार है बीजेपी की पूरी सरकार साथ चल रही है पर इनको इतना भी नही मालूम कि आम जनता परेशान हो रही है। हर तरफ जाम ओर ये शोर, भाई बीजेपी के गामा जी मेयर के पद के लिए नामंकन करने जा रहे थे इसलिए अगर वो सादगी के साथ जाते और ये संदेश देते की मेरी पहली सोच ही यही है कि जनंता को जाम से निजात दिलाऊँगा तो बात ही अलग होती पर ये गामा जी तो पूरे बैंड बाजा के साथ सैकड़ो बराती लेकर साथ चले इससे हमको परेशानी हुई ।

कम से कम मेयर के उम्मीदवार को तो अपनी ये पुरानी सोच बदलनी होगी। क्या कम लोग अगर नामंकन मे जाते है तो क्या वोट कम हो जाते है ।इस तरह की बात आज आम जनता बोल रही थी। साथ ही बहुत से लोग बोले कि गामा ही क्या रजनी रावत ओर फिर अगले दिन दिनेश अग्रवाल को देखना वो भी ऐसे ही आयगे ओर जनता परेशान होगी।
अब आप ही बताओ हमारा मेयर केस होना चाइए इनके जैसा या कोई नई सोच वाला ।
बीजेपी के विनोद चमोली 10 साल रहे हर बार मेट्रो चलाने की बात की उन्होंने पर क्या हुवा चमोली गए अब कोई ओर आएगा ।पर मेट्रो राम जाने कब।
बहराल देहरादूंन की जनता अब भी वही है जो पांच साल पहले थी । बस उनकी सोच बदली है कि वोट उसको जो काम करके दिखाए आज गामा जी के रैली देखकर लोग नाराज हुए । आगे देखते है मंगलवार को क्या कहती है जनता ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here