जाको राखे साईयां, मार सके न कोय एक साल की वंशिका बच गई पर दादा ओर मॉ की हादसे में मौत हो गई।

जाको राखे साईयां, मार सके न कोय… यह वाक्य भड़कोट वाहन हादसे से सकुशल बची एक वर्ष की वंशिका पर सटीक बैठती है। हादसे में बच्ची को खरोंच तक नहीं आई है, जबकि दुर्घटना में बच्ची की मां और दादा की मौत हो गई है। बनकोट निवासी संदीप सिंह की पत्नी कृष्णा देवी व पिता पुलम सिंह एक वर्ष की वंशिका को लेकर चिन्यालीसौड़ जा रहे थे। जहां सुकन्या समृद्धि योजना के तहत वंशिका का बैंक खाता खुलवाया जाना था, लेकिन काल के कुचक्र ने ऐसा फेर रचा कि भड़कोट बैंड के निकट उनका वाहन खाई में जा गिरा।

हादसे में वंशिका की मां कृष्णा देवी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि दादा पुलम सिंह की हायर सेंटर रेफर करते समय मौत हो गई। वहीं वंशिका को खरोंच तक नहीं आई है। रेस्क्यू टीम ने बच्ची को खाई से बाहर निकाला। परिजनों ने बताया कि वंशिका के पिता जिले से बाहर किसी होटल में काम करते हैं, लेकिन आजकल छुट्टी पर घर आए हुए हैं। हादसे के बाद अब घर में बच्ची के पिता सहित दादी व चाचा ही बचें हैं, जो खेतीबाड़ी कर गुजारा करते हैं। 
धरासू-जोगत मोटर मार्ग पर सोमवार सुबह भड़कोट गांव के पास एक टैक्सी के दुर्घटनाग्रस्त होने से उसमें सवार पांच लोगों की मौत हो गई और पांच लोग घायल हो गए। घायलों में दो लोगों की हालत गंभीर होने से उन्हें हेलीकॉप्टर की मदद से एम्स ऋषिकेश भेजा गया, जबकि दो अन्य घायलों को देहरादून रेफर कर दिया गया है। दुर्घटना का कारण प्रथमदृष्टया ब्रेक फेल होना बताया जा रहा है। सोमवार सुबह करीब पौने दस बजे बनकोट जगड़गांव से ग्रामीणों को लेकर आ रही टैक्सी भड़कोट के पास अनियंत्रित होकर सड़क से पचास फीट नीचे खड्ड में जा गिरी। 
हादसे का पता चलते ही ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर बचाव कार्य शुरू कर दिया। चिन्यालीसौड़ से पुलिस और एसडीआरएफ की टीमें भी मौके पर पहुंची। दुर्घटनाग्रस्त वाहन में चालक समेत कुछ दस लोग सवार थे। इनमें कृपाल सिंह (65) पुत्र काल्या सिंह निवासी दिचली, बनकोट गांव की दीपना देवी (55) पत्नी विशन सिंह एवं कृष्णा देवी (24) पत्नी संदीप तथा भेंगवालगांव की लक्ष्मी देवी (32) पत्नी विक्रम सिंह की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पुलम सिंह (52) पुत्र महानंद निवासी बनकोट ने हेलीकॉप्टर से ऋषिकेश ले जाते समय हवाईपट्टी पर ही दम तोड़ दिया।

हादसे में गंभीर रूप से घायल बनकोट गांव के सोबन सिंह (34) पुत्र विशन सिंह और प्रियंका (24) पुत्री रमेश को हेलीकॉप्टर की मदद से एम्स ऋषिकेश ले जाया गया, जबकि घायल वाहन चालक बनकोट निवासी विद्या सिंह(45) पुत्र कमल सिंह और सुषमा (30) पत्नी सुभाष चंद्र को एंबुलेंस से देहरादून भेजा गया। हादसे में मृत कृष्णा देवी की एक साल की बेटी वंशिका को सामान्य चोटें आयीं। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिन्यालीसौड़ में उपचार के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।

हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे डीएम डॉ.आशीष चौहान ने हर्षिल में आए एक निजी हेलीकॉप्टर को तत्काल चिन्यालीसौड़ बुलाकर गंभीर घायलों को ऋषिकेश पहुंचाने की व्यवस्था की। प्रत्यक्षदर्शी भड़कोट निवासी जीघत सिंह राणा, शिवराज बिष्ट आदि ने बताया कि जिस स्थान पर हादसा हुआ है, वहां सड़क दुरुस्त हालत में है। सड़क पर ब्रेक लगाने से टायरों के निशान भी नहीं हैं और गाड़ी मोड़ पर पहाड़ी से टकराकर खड्ड में गिरी है। संभवत: ब्रेक फेल होने के कारण हादसा हुआ है। हालांकि असली वजह जांच के बाद ही सामने आएगी। 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here