खुलासा – सरकार की मंशा भांप पहले ही स्वामी सानंद ने जता दी थी मौत की आशंका ! वीडियो वारयल जिसमे स्वामी ने बोली थी दशहरे से पहले प्रांण जाने की बात !


केंद्र की मंशा भांप पहले ही स्वामी सानंद ने जता दी थी मौत की आशंका 

आपको बता दे कि गंगा की स्वच्छता और अविरलता के लिए स्वामी सानंद ने अपने प्राणों की आहूति दे दी। सानंद अपना सर्वस्व लुटाकर गंगा के लिए गति को प्राप्त हुए, लेकिन स्वामी सानंद की मौत के बाद कई तरह के सवाल उठने लगे हैं. ऐसे में ताजा सवाल सानंद के एक पुराने बयान को लेकर सामने आ रहा है, जिसमें सानंद कह रहे हैं कि उनकी मौत दशहरे से पहले हो जाएगी.

इस बयान को सुनकर लग रहा है कि इसका मतलब साफ है कि स्वामी सानंद पहले ही सरकार के गंगा प्रेम को भांप गये थे, वे पहले से ही जानते थे कि उनकी मांगें नहीं मानी जाएंगी।जीडी अग्रवाल पूरी तरह आश्वस्त थे कि केंद्र में बैठी मोदी सरकार सिर्फ सहूलियत से समझौता करेगी। बावजूद इसके सानंद का गंगा प्रेम तो देखिए कि जीवन के अंतिम समय तक वे गंगा के लिए लड़ाई लड़ते रहे। अब इनको आप गंगा पुत्र नही कहेगे तो क्या बोलेंगे । 

आपको बता दे कि केंद्र सरकार का गंगा के प्रति नकारात्मक रवैया और संवेदनहीनता के चलते गंगा का एक और पुत्र काल के मुह में समा गया. ऐसे में गंगा के नाम पर सत्ता में आई सरकार से सवाल करना लाजमि है कि क्या गंगा की अविरलता को बनाए रखने वाले लोग ऐसे ही मरते रहेंगे? क्या सरकार का कोई फर्ज नहीं बनता कि ऐसे लोगों से बात की जाए?, ऐसा लगता तो नहीं है, क्योंकि अगर सरकार ऐसा करती तो स्वामी सानंद पहले ही अपने मौत की आशंका नहीं जताते.। ओर ख़बर ये भी निकलकर आ रही है कि अभी बहुत कुछ बड़े खुलासे होन बाकी है।

सोजन्य से  ( .hindi.eenaduindia.com )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here