खुले में पढ़ने व खुले में शौच जाने को मजबूर है छात्रा ,सरकार यहा भी निवेशकों से निवेश करवा दो , पांडये जी तो कुछ देख ही नही रहे है !

है भगवान आप तो सब देख ही रहे हो , पर क्या डबल इज़न की सरकार भी देख रही है ये सब कुछ जहा खुले आसमान के नीचे पढ़ने को मजबूर है लगभग 354 छात्र छात्राये l
प्रताप नगर टिहरी के राo ईo काo गरवाणगाँव उपली रमोली का मामला ये मामला निकलकर आया है
ख़बर है कि पिछले दो सालो से खुले में पढ़ने व खुले में शौच जाने को मजबूर है छात्रा ओर छात्र
आपको बता दे कि विद्यालय में न भवन न अध्यापक न बैठने को फर्नीचर और ना ही शौचालय है ।
ऐसे चल रहा है पहाडो में स्कूल और शिक्षा विभाग लाचार । 354 छात्र छात्राओं के भविष्य से हो रहा है खिलवाड ।. साथ ही प्रधानमन्त्री की महत्व
काँक्षी योजना स्वछ भारत मिशन की भी खोल रहे है पोल। 
मामला प्रतापनगर के उपली रमोली के रा0 ई0 का0 गरवाणगाँव का है l जहां 2015 में तत्कालीन सरकार ने विद्यालय भवन की जीर्ण सीण स्थिती को देखते हुए भवननिर्माण के लिए 2 करोड़ 12 लाख मंजूर करवाये और 2016 में कार्यदाई संस्था जलनिगम चम्बा ने ट्रेन्डर करवाकर नवम्बर 2016 में कार्य प्रारम्भ करवा दिया साथ ही ठेकेदार को 58 लाख का भुगतान भी कर दिया l जिसके बाद ठेकेदार ने भवन की दो छत डाल कर मार्च 2017 में आगे भुगतान न होना बता कर कार्य बन्द कर दिया l जिसके लिये स्थानीय जन प्रतिनिधि कनिष्क प्रमुख बलबीर असवल अभिभावक संघ अध्यक्ष थान सिह राना ने कई बार डीo एमo से मोखिक व लिखित रूप में विद्यालय भवन को पूर्ण करवाने की मांग की जिस पर डीo एमo के द्वारा केवल आस्वासन ही मिलते रहे l  
लेकिन जब डीo एमo सोनिका से इस मामले की जानकारी लेनी चाही तो डीo एमo ने साफ़ मना कर दिया कि मामला उनकी जानकरी में नहीं है और कार्यवाही की बात की l पाहड़ के स्कूलों मे तब ही तो ताले लग रहे है जब हालात आपके सामने है
डबल इज़न की सरकार ओर शिक्षा मंन्त्री जी यहा भी कुछ निवेश करवाने की योजना बनवा दो ।

केशव रावत कि रिपोर्ट प्रतापनगर से

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here