शर्मनाक !स्मैक के साथ गिरफ्तार भाजपा नेता ,सत्ता की आड़ में नशे का कारोबार ! इनको डर काहे का था ,आगे पीछे इनकी तो है सरकार!

 

ख़बर है कि सत्ता की आड़ में स्मैक का कारोबार करने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आपको बता दे कि नेता की दुकान में छापे के दौरान पुलिस ने 20 ग्राम स्मैक बरामद की। पुलिस के अनुसार आरोपी नेता पूरे जिले में स्मैक की तस्करी करता था।
है राम सत्ता की आड़ में गलत काम करने वाले भाजपा नेताओं की एक के बाद एक करतूतें अब सामने आ रही है। अभी 6 तारीख को ही जहा एक भाजपा नेता आईपीएस अफसर की पत्नी से छेड़छाड़ के बाद सुर्खियों में आया था।
वहीं अब सोमवार को पुलिस ने भाजपा के नगर उपाध्यक्ष कांति कोली को स्मैक के साथ गिरफ्तार किया। सीओ सिटी स्वतंत्र कुमार ने बताया कि रविवार देर रात मुखबिर ने सूचना दी थी कि रंपुरा निवासी हरिमोहन स्मैक का कारोबार करता है।
इस सूचना पर एसएसआई कमलेश भट्ट और एसआई प्रकाश बिष्ट ने रामपुर रोड से हरिराम को गिरफ्तार कर उससे चार ग्राम स्मैक बरामद कर उसे जेल भेज दिया। पूछताछ में हरिराम ने स्मैक रंपुरा वार्ड नंबर सात निवासी भाजपा नगर उपाध्यक्ष कांति कोली की होने की बात कही।
बस फिर क्या था इस पर सोमवार देर शाम कोतवाली पुलिस ने कांति कोली की रंपुरा चौरासी घंटा के पास स्थित किराये की दुकान में छापा मारकर 20 ग्राम स्मैक बरामद कर उसे गिरफ्तार कर लिया। आज यानी मंगलवार को कांति को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

आपको बता दे कि बरामद स्मैक की बाजार कीमत करीब चार लाख रुपये आंकी गई है। टीम में कोतवाल केसी भट्ट, एसएसआई कमलेश भट्ट, जगदीश ढकरियाल, एसआई जसविंदर सिंह, ओमप्रकाश आदि थे।

जानकारी अनुसार कोतवाल केसी भट्ट ने बताया कि कुछ दिन पूर्व स्मैक की तस्करी में गिरफ्तार खटीमा की युवती ने भी कांति कोली का नाम लिया था और रविवार को गिरफ्तार किए गए हरिमोहन के पास बरामद स्मैक भी कांति कोली की होने की पुष्टि हुई है। इससे पूरा गिरोह होने का अनुमान है, जिसकी जांच के लिए कांति को पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा। 

ख़बर है कि रपुरा को नशा कारोबार का गढ़ माना जाता है। अवैध शराब की छापेमारी में कई बार पुलिस को क्षेत्रवासियों का विरोध भी सहना पड़ा, लेकिन सोमवार को कांति कोली की गिरफ्तारी के दौरान क्षेत्र के लोग पुलिस के पक्ष में नजर आए। लोगों का कहना था कि कांति लंबे समय से स्मैक का कारोबार कर रहा था। साथ ही उसे इस गोरखधंधे में पार्टी के ही कुछ पदाधिकारियों का संरक्षण भी मिला हुआ है। कांति के जेल जाने से उनके बच्चों का भविष्य बिगड़ने से बच सकता है।

जानकारी अनुसार
रंपुरा में भाजपा नेता की ओर से स्मैक कारोबार करने का खुलासा होने के बाद अब पुलिस ने रंपुरा क्षेत्र पर अपना फोकस कर लिया है। कांति की धरपकड़ के दौरान क्षेत्र के लोगों ने पुलिस को कुछ और तस्करों का नाम भी बताए हैं। साथ ही खुफिया विभाग ने भी कुछ स्मैक तस्करों की सूची पुलिस को उपलब्ध कराई है।

इतना सबकुछ होने के बाद भी बड़े नेताओं के साथ खुद की पैरवी करने थाने पहुंचा था कांति
स्मैक तस्करी में कांति का नाम सामने आने पर कांति पार्टी के कुछ बड़े नेताओं और पदाधिकारियों के साथ खुद की पैरवी करने कोतवाली पहुंचा। इस दौरान पैरवी करने वाले नेताओं ने कांति की एक साफ सुथरी छवि पुलिस के आगे रखने के साथ ही सत्तारूढ़ पार्टी का हवाला देकर पुलिस को दबाव में लेने की भी कोशिश की, लेकिन पुलिस ने फटकार लगाकर नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया।
बहराल बीजेपी के सगठन को यहा पर सोचना होगा क्योकि इससे उनकी पार्टी की छवि खराब भी हो रही है । जीरो टालरेश वाले मुख्यमन्त्री की भी क्योकि एक तरफ तो वो इस नशे के खिलाफ अन्य राज्यों में मीटिंग कर रहे है और यहा उनके बीजेपी के नेता कार्यकर्ता पूरे जिले को नशे के मकड़ जाल में डाल रहे है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here