थैंक्यू भारत कन्स्ट्रक्शन , धन्यवाद सीएम त्रिवेन्द्र रावत जी जाम के झाम से मिल गई निजात!

आज वो सुभ् दिन आया जब देहरादून दिल्ली राजमार्ग पर डाटकाली मंदिर के पास 57 करोड़ रुपये की लागत से बनाई गई डबल लेन टनल आज से खुल गई । मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने इस टनल का उद्धाटन किया शनिवार यानी आज से नई टनल से वाहनों का संचालन शुरू हो गया है इसके बाद पुरानी टनल से लगने वाले जाम से निजात मिलने लग गई है 
आपको बता दे कि डाटकाली की नई टनल बनने के बाद राजमार्ग की दूरी 1.5 किलोमीटर कम हो जाएगी। पुरानी टनल डाटकाली मंदिर से होकर जाती है और लंबे घुमाव के चलते दूरी बढ़ जाती थी। नई टनल में मंदिर बाईपास हो जाएगा और इस तरह दूरी भी कम हो जाएगी।

इस टनल परियोजना पर एक नजर
लागत : लगभग 57 करोड़ रुपये
आकार : डबल लेन
लंबाई : 800 मीटर
टनल का मुख्य भाग : 340 मीटर
उत्तर प्रदेश की तरफ : 205 मीटर
उत्तराखंड की तरफ : 255 मीटर

देहरादून-दिल्ली राजमार्ग पर डाटकाली मंदिर के पास 57 करोड़ रुपये की लागत से बनाई गई डबल लेन टनल आज से खुल गई। भारत रत्न इंजीनियर एम विश्वेश्वरैया के नाम पर इस टनल को नाम दिया गया।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस टनल का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने पीडब्लूडी के अधिकारियों के साथ भारत कर्स्टक्शन के मालिक जिन्होंने इस टनल को समय से 8 महीने पूर्व ही बना डाला श्री रणवीर पवार ओर राजीव गर्ग को बहुत शुभकामनाएं दीं

देहरादून: कल होने वाले इन्वेस्टर्स समिट से पहले दूनवासियों को एक बड़ा तोहफा मिल गया है. दिल्ली राजमार्ग पर डाटकाली मंदिर के पास 57 करोड़ रुपये की लागत से बनाई गई डबल लेन टनल आज खुल गई है.मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस टनल का उद्घाटन किया. इस दौरान उन्होंने पीडब्लूडी के अधिकारियों को तय समय से 8 महीने पूर्व टनल बनाने पर शुभकामनाएं दीं. इस टनल का नाम भारत रत्न इंजीनियर एम विश्वेश्वरैया के नाम पर रखा गया है.

देहरादून-सहारनपुर राष्ट्रीय राजमार्ग के बीच डाटकाली मंदिर के पास जाम की समस्या से भी अब छुटकारा मिलेगा. सरकार ने इनवेस्टर मीट से पहले नव निर्मित डबल लेन टनल को खोल दिया है. करीब 57 करोड़ लागत से बनी इस टनल का उद्घाटन सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया.

इस टनल के खुल जाने से राजमार्ग पर यात्रा काफी सुगम हो जाएगी.डाटकाली की नई टनल बनने के बाद राजमार्ग की दूरी 1.5 किलोमीटर कम हो गई है. पुरानी टनल डाटकाली मंदिर से होकर जाती है और लंबे घुमाव के चलते दूरी बढ़ जाती थी. नई टनल मंदिर बाईपास से होकर गुजरेगी जिससे दूरी कम होगी.करीब 300 मीटर लंबी यह प्रदेश की पहली डबल लेन सुरंग है. टनल को इस तरह से डिजाइन किया गया है, उसमें बारिश का पानी न पहुंचे. भारत रत्न इंजीनियर एम विश्वेश्वरैया के नाम पर इस टनल का नाम दिया गया है.
मां डाटकाली में नवनिर्मित डॉ. विश्वेश्वरैया डबल लेन टनल को जनता को समर्पित किया। 330 मीटर लंबी इस टनल की डेडलाइन मार्च 2019 में थी लेकिन समय से पहले ही निर्माण कार्य पूरा किया गया है। इस टनल से NH-72 पर लगने वाले जाम से मुक्ति मिलेगी।  जानकारी के मुताबिक, करीब 340 मीटर लंबी इस टनल का निर्माण कार्य मई 2017 में शुरू हुआ था और यह अपने निर्धारित समय मई 2019 से  8 महीने पहले ही बनकर तैयार हो गई है. इस टू लेन मोटर टनल के निर्माण से अब डाट काली में सिंगल लेन टनल पर लगने वाले जाम से यात्रियों को निजात मिल जाएगी

.आपको बता दे की समय से पहले ओर पूरी गुडवत्ता के साथ नई तकनीक से काम करने के लिए भारत कन्स्ट्रक्शन के निदेशक रणवीर पवार ओर राजीव गर्ग के साथ साथ उनकी पूरी टीम को बहुत बहुत बोलता उत्तराखंड़ की तरफ से बहुत बहुत सुभकामनाये
ओर डबल इज़न की सरकार के मुखिया त्रिवेन्द्र रावत को भी बहुत बहुत धन्यवाद इस उम्मीद के साथ कि आप राज्य मैं इस प्रकार विकास की टनल बनवाते रहे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here