दून में मेट्रो के लिए अडानी ग्रुप का साथ , पहाड़ में रिलायंस करेगा ‘विकास’!

इन्वेस्टर्स समिटः दून में मेट्रो के लिए आगे आया अडानी ग्रुप, पहाड़ में रिलायंस करेगा ‘विकास’

आपको बता दे कि उत्तराखंड में इन्वेस्टर्स समिट का काउंटडाउन शुरू हो गया है. त्रिवेंद्र सरकार ने चुनावी साल 2019 से पहले जिन निवेशकों को प्रदेश में निवेश करने का न्योता दिया है उनके बारे में भी जानना जरूरी है. आइए आपको बताते हैं कि प्रदेश में कौन-कौन सी कंपनियां निवेश कर रही हैं? इसके अलावा कौन-कौन पहाड़ों में निवेश कर रहा है.

आपको बता दे कि इन्वेस्टर्स समिट को लेकर सरकार दावा कर रही है कि शुरुआती चरण में ही कुल 20 हजार बेरोजगारों को नौकरी मिलेगी. त्रिवेंद्र सरकार की मानें तो इस समिट में 1700 से ज्यादा निवेशक आ रहे हैं, जिसमें भारत के निवेशकों के अलावा विदेशी कंपनियां भी शामिल हैं.

ख़बर आई है कि देहरादून में मेट्रो बनवाने के लिए अडानी ग्रुप आगे आया है. वहीं पहाड़ में निवेश करने के लिए रिलायंस कंपनी ने हामी भरी है. योग गुरू बाबा रामदेव भी स्थानीय निवेशक के रूप में बड़ा निवेश कर सकते हैं. सरकार की मानें तो करीब 77 हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव मिले हैं. इसमें 70 हजार करोड़ से ज्यादा के एमओयू हो चुका है.
सबसे ज्यादा निवेश किए जाने वाले क्षेत्रों में एमएसएमई, पर्यटन, ऊर्जा, एरोमा, रेशम, जड़ी-बूटी, चाय, आयुष, कृषि, बागवानी, फार्मा, आईटी है. मुख्यमंत्री की मानें तो मैन्युफैक्चरिंग, पर्यटन, फूड प्रोसेसिंग, फार्मा सेक्टर में लगभग 43 बड़े उद्योग स्थापित करने के लिए करीब 7269 करोड़ निवेश के प्रस्ताव पर एमओयू हो चुका है.
प्रदेश में सबसे बड़ा अगर निवेश कोई कंपनी कर रही है तो वो है अयूर, जो राज्य में लगभग 21 हजार करोड़ रुपये का निवेश कर रही है. ये कंपनी दवाई, इत्र, परफ्यूम जैसे प्रोडेक्ट बनाती है.
इसके अलावा जो बड़ी कंपनियां निवेश कर रही हैं उनके नाम-
एस ईश्वरन, मिनिस्टर ऑफ कम्यूनिकेशन सिंगापुर सरकार
मुकेश अंबानी, चेयरमैन रिलायंस इंडस्ट्री
कुमार मंगलम बिरला, चेयरमैन आदित्य बिडला ग्रुप
आनन्द महिन्द्रा, चेयरमैन महिन्द्रा ग्रुप
सुभाष चन्द्रा चेयरमैन, इएसएसईएल ग्रुप
रतन टाटा, चेयरमैन टाटा संस
वाईसी देवेश्वर चेयरमैन, आईटीसी लिमिटेड
गौतम अडानी, चेयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर अडानी ग्रुप
स्वामी रामदेव, पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड
चरणजीत बनर्जी, डायरेक्टर जनरल कंफेडेशन ऑफ इण्डियन इंडस्ट्री
आरएस सोढ़ी, मैनेजिंग डायरेक्टर अमूल डेयरी
डॉ. नरेश त्रेहान, चेयरमैन, मैनेजिंग डायरेक्टर मेदांता
एचई केन्जी, जापान के राजदूत
एचई मिलान, चेक रिपब्लिक के राजदूत
नटराजन चन्द्रशेखरन, चेयरमैन टाटा संस
सज्जन जिंदल, चेयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर जेएसडब्लू ग्रुप
इसके अलावा राज्य के निवेशक भी पूरा सहयोग इस समिट में कर रहे है।
बहराल मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत का पिछले तीन महीनों से बहाया पसीना राज्य हित मे काम आ रहा है और यदि जो सबकुछ अभी दिखाई दे रहा है सुनाई दे रहा है जैसे ही अमलीजामा पहन कर धरातल पर दिखने लगेगा वैसे ही पूरा उतराखंड त्रिवेन्द्र रावत के नारों से गूँजता दिखाई देगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here