5साल की लाडली बिटिया गायब हो गई और जब मिली तो माता पिता पर दुखो का पहाड़ टूट गया

ख़बर दुःखद है रविवार को छुट्टी के दिन एक पांच साल की मासूम गुड़िया घर के आंगन में खेल रही थी। फिर वो अचानक गायब हो गई। बस फिर क्या था माता-पिता ने खूब ढूंढ खोज की, ओर उसके बाद जब वो मिली तो माता पिता पाए दुखों का पहाड़ टूट पड़ा।

 

ख़बर विस्तार से है रायपुर थाना क्षेत्र की शिवलोक कॉलोनी नथुआवाला में एक निर्माणाधीन मकान के हौज में रविवार को पांच साल की मासूम की गिरकर मौत हो गई। दुःखद घटना थी आपको बता दे कि आननफानन परिजनों ने मासूम को अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बच्ची का पोस्टमार्टम नहीं कराने के लिए परिजन देर रात तक जिलाधिकारी से अनुमति लेने के प्रयास में लगे रहे।

पुलिस कि जानकारी अनुसार शिशुपाल सिंह नेगी का शिवलोक कॉलोनी नथुआवाला में मकान बन रहा है। ओर पानी के लिए इसी परिसर में हौज भी बना है।
पर इस हौज पर ढक्कन नहीं लगा था
आपको बता दे कि रविवार दोपहर करीब 12 बजे शिशुपाल की पांच साल की बेटी शिवांशी उर्फ परी खेलते वक्त इसी हौज में गिर गई। काफी देर तक परिजनों ने जब परी को नहीं देखा तो तलाश शुरू की।
ओर करीब डेढ़ बजे पता चला कि परी हौज में गिर गई है। इसके बाद परिजनों ने आननफानन स्थानीय लोगों की मदद से परी को बाहर निकाला और तुरंत अस्पताल ले गए। जहां चिकित्सकों ने मासूम परी को मृत घोषित कर दिया।
चिकित्सकों ने मौत की वजह सिर में गंभीर चोट बताई है। बताया जा रहा है कि हौज पर ढक्कन नहीं लगा था।
इंस्पेक्टर रायपुर हेमेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि हौज में पानी का स्तर केवल डेढ़ से दो फीट है। जबकि, हौज की पूरी गहराई लगभग पांच फीट। ऐसे में बच्ची ने उसमें से पानी निकालने की कोशिश की होगी, जिससे वह हौज में गिर गई।
बताया जा रहा है कि बच्ची अक्सर हौज के पास खेलती थी। परिजनों के अनुसार बच्चे अक्सर इस हौज से पानी निकालने की कोशिश करते थे। परी के हाथ में एक लोटा भी था। वहीं परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार किया है। इसके लिए देर रात तक जिलाधिकारी से अनुमति लेने का प्रयास कर रहे थे।
इससे पहले भी कई मामले इस तरह के शहर में सामने आ चुके हैं।
बहराल परी के सपनो का मकान उसके माता पिता बना रहे थे पर पर उसी मकान के निर्माण में काम आने वाला पानी का हौज परी की जान ले गया।
क्या बीत रही होगी इस समय उसके माता पिता पर उसके लिए हमारे पास शब्द नही है।
पर इतना जरूर आगे के लिए आप सब से अपील करता हूँ कि आप सब अपने मासूमो का ख्याल रखे जरा सी हमारी लापरवाही किसी भी हादसे को अंजाम दे सकती है।और हम्हे ज़िन्दगी भर के लिए सदमा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here