5 लांख 53 हज़ार यु ही नही मिलते शाबास लक्ष्य

बैडमिंटन चैंम्पियन लक्ष्य सेन को चैक भेंट करते सीएम।।           

एशियन जूनियर बैडमिंटन चैंम्पियन लक्ष्य सेन को 5 लाख 53 हजार का चेक भेंट किया

देहरादून, मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता मिलन हॉल में आयोजित सम्मान समारोह में एशियन जूनियर बैडमिंटन चैम्पियन लक्ष्य सेन को 5 लाख 53 हजार का चेक भेंट कर सम्मानित किया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने लागोस इंटरनेशनल बैडमिंटन चैम्पियन बनने पर कुहू गर्ग को भी सम्मान स्वरूप 2 लाख का चेक प्रदान किया।  
इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि खेलों का हमारे चहुमुखी एवं बहुआयामी विकास में बहुत बड़ा योगदान रहता है। हमारा छोटा राज्य है। लक्ष्य सेन ने अपनी प्रतिभा से देश के साथ ही प्रदेश का नाम भी रोशन किया है। उन्होंने कहा कि हमें कुछ खेलों के प्रति अपना ध्यान केन्द्रित कर अच्छे कोचों को यहां लाने के प्रयास करना चाहिए। इससे राज्य के युवाओं को खेलों में और बेहतर अवसर प्राप्त हो सकेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे बच्चे प्राकृतिक रूप से जिस वातावरण में पलते बढ़ते है, वह उन्हें मजबूती प्रदान करता है। हमारे बच्चों में खेलों के हर क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने का जज्बा है। लक्ष्य सेन व कुहू गर्ग की विजय युवाओं की विजय है। खेल कोई भी हो, उनमें हमारे युवाओं का उत्साह देखते ही बनता है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि खेल हमे स्वयं को आत्म केन्द्रित करने में भी मदद करते हैं, इससे अभिमान व घमण्ड रहित विजय भाव भी पैदा होता है जिसमें खिलाडी को केवल लक्ष्य ही दिखाई देता है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि लक्ष्य सेन इसी तरह अपने और भी लक्ष्यों को प्राप्त करते हुए लक्ष्य भेद सेन नाम से प्रसिद्धि प्राप्त करेगा। मुख्यमंत्री ने लक्ष्य सेन के साथ ही कुहू गर्ग के माता-पिता व उनके कोच को उन्हें कामयाब बनाने के लिए बधाई दी। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने इस अवसर पर कुहू गर्ग को भी 2 लाख का चेक प्रदान किया। कुहू गर्ग आजकल रूस में है। उनका चेक उनके माता-पिता श्रीमती अलकनंदा अशोक व एडीजी श्री अशोक कुमार द्वारा प्राप्त किया गया।
इस अवसर पर उत्तरांचल बैडमिंटन एसोसिएशन के अध्यक्ष ए.डी.जी. श्री अशोक कुमार ने बताया कि बैडमिंटन में एशियन जूनियर चैंपियनशिप लक्ष्य सेन ने 53 वर्षों के बाद जीता है। इससे पहले 1965 में गोतम ठाकुर ने यह चैंपियनशिप जीती थी। उन्होंने बताया कि लक्ष्य सेन का चयन यूथ ओलम्पिक के लिये भी हुआ है। उन्होंने इस अवसर पर मुख्यमंत्री को बैडमिंटन रेकेट भी प्रदान किया तथा कहा कि मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र स्वयं भी बैडमिंटन के खिलाडी हैं। लक्ष्य सेन ने कहा कि उनका प्रयास सदैव अपने खेल से देश व प्रदेश का नाम रोशन करने का रहेगा, उन्होंने इस सम्मान के लिये मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र का आभार भी व्यक्त किया। इस अवसर पर विधायक गणेश जोशी, मुन्ना सिंह चैहान, मनोज रावत, सचिव खेल भूपिन्दर कौर औलख, उपाध्यक्ष उत्तराखण्ड बैडमिंटन एसोसिएशन आईजी संजय गुंज्याल, सचिव डीएस मनकोटी के साथ ही लक्ष्य सेन के माता पिता एवं कोच के साथ ही अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here