उत्तराखंड से बड़ी ख़बर

11वीं गढ़वाल राइफल्स के जवान राजेंद्र सिंह नेगी का मिला शव
पारिवारिक जनो ने की पुष्टि,
कल देहरादून पहुँच सकता है शव
आठ जनवरी 2020 को अपनी पोस्ट से लापता हो गए थे हवलदार नेगी
कश्मीर के अनंतनाग में वह पोस्ट पर ड्यूटी दे रहे थे

इसी दौरान एवलांच में उनका पांव फिसला और वह पाक सीमा की तरफ गिर गए थे
लंबे समय से लापता होने के कारण सेना ने उन्हें कर दिया था शहीद घोषित
परिवार ने बिना शव देखे शहीद मानने से किया था मना


बता दे कि
छह महीने पहले बॉर्डर पर बर्फ में फिसलने के बाद लापता जवान राजेंद्र को सेना ने कुछ दिन पहले शहीद घोषित कर दिया है। ओर परिजनों को पत्र के माध्यम से सूचित कर दिया गया था ।
उस समय तक हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी की न बॉडी मिली थी ना कोई सुराग लग पाया था


तब उनके परिजनों का कहना था कि भले ही सेना ने शहीद कर दिया है, लेकिन जब तक पार्थिव शरीर नहीं देख लेते तब तक वह उम्मीद नहीं छोडे़ंगे

 

बीते 9 जनवरी को गुलमर्ग से लापता हुए 11 गढ़वाल राइफल्स के हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी (Rajendra Singh Negi) का शव बर्फ के नीचे से बरामद हो गया है। सेना के अधिकारियों द्वारा आज ही इसकी सूचना परिजनों को दी गई है। विदित हो कि हाल ही में सेना ने लापता राजेंद्र सिंह नेगी को शहीद घोषित किया था लेकिन शहीद राजेन्द्र के परिजन इस बात को मानने के लिए कत‌ई तैयार नहीं थे। हवलदार राजेंद्र की पत्नी राजेश्वरी देवी ने सेना से या तो राजेंद्र का पार्थिव शरीर खोजने या फिर उन्हें जीवित ढूंढने की मांग की थी। बताया गया है कि शहीद राजेन्द्र का पार्थिव शरीर रविवार को सेना के विशेष वाहन से दिल्ली भेजा जाएगा। जहां से पार्थिव शरीर के रविवार शाम यानी कल तक देहरादून पहुंचने की संभावना है। शहीद राजेन्द्र का अंतिम संस्कार पूरे सैन्य सम्मान के साथ सोमवार 17 अगस्त को हरिद्वार में किया जाएगा।

 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here