उत्तराखंड वालो अब यहा सिर्फ आधे घंटे में पता चल जाएगा कि किसी मरीज को कोरोना है या नहीं

जी हां उत्तराखंड किसी मरीज को कोरोना है या नहीं, अब यह सिर्फ आधे घंटे में पता चल जाएगा।
ओर यह मुमकिन होगा रैपिड एंटीजन टेस्ट किट की मदद से।
आपको बता दे कि स्वास्थ्य महानिदेशालय ने जिला स्वास्थ्य विभाग को दो हजार किट मुहैया करा दी हैं।
अब रैपिड एंटीजन टेस्ट किट के पहुंचने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और विशेषज्ञों ने भी राहत की सांस ली है।
इससे पहले कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच के लिए रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट के जरिए इस बात का पता लगाया जाता था कि मरीज में कोरोना संक्रमण है या नहीं।
बता दे कि रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट में मरीजों का इलाज कर रहे चिकित्सा विशेषज्ञों को इंतजार करना होता था।
वही मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीसी रमोला ने मीडिया को बताया कि फिलहाल इस समस्या समस्या का समाधान हो गया है। स्वास्थ निदेशालय की ओर से जिले को दो हजार एंटीजन टेस्ट किट मुहैया कराई करा दी गई है।
ओर इसमें से 100 एंटीजेन टेस्ट किट सेना अस्पताल को भेज दी गई हैं। क्योंकि वहां बड़ी संख्या में सेना के जवानों में कोरोना संक्रमित होने की घटनाएं सामने आ रही हैं। इसके अलावा बाकी किट दून अस्पताल समेत अन्य अस्पतालों को मुहैया कराई जा रही हैं। 
मीडिया को मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि कोरोन संक्रमित मरीजों का समय रहते इलाज किया जा सके इसके लिए स्वास्थ विभाग की ओर से हर संभव कदम उठाए गए हैं। विभागीय अधिकारियों की टीमें गठित कर उन तमाम इलाकों पर कड़ी निगरानी की जा रही है, जहां कोरोना संक्रमित मरीज ज्यादा पाए गए हैं। वैसे तो कोरोना के सबसे अधिक मरीज देहरादून जिले में पाए गए हैं। लेकिन राहत की बात यह है कि इनमें से ज्यादातर मरीज तेजी से ठीक हो रहे हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here