ऐसा तो देखा पहली बार रे :
मुंह पर मास्क पहन परेड में शामिल हुए कैडेट, अंतिम पंग पार कर देश के 333 भावी सैन्य अफसर आज से देश सेवा के लिए समर्पित ।

अंतिम पंग पर कर
देश के 333 भावी सैन्य अफसर आज देश सेवा में समर्पित हुए।
वही इसके अलावा 90 विदेशी कैडेट्स भी अपने देश की सेना में शामिल हुए।
कड़े प्रशिक्षण में खरा उतरने के बाद जांबाज कैडेट्स ने आज अंतिम पग भरा
इसके साथ ही वे भारतीय सेना का हिस्सा बन गए। परेड में सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने बतौर रिव्यूइंग ऑफिसर भाग लिया।

देखिय आज सुबह छह बजकर 42 मिनट पर कैडेट परेड स्थल पहुंचे और परेड शुरू हुई।

फिर डिप्टी कमांडेंट ने सबसे पहले परेड की सलामी ली ओर
ठीक सात बजकर पांच मिनट पर कमांडेंट ले. ज. जयवीर सिंह नेगी ने परेड की सलामी ली।


इसके बाद सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने परेड का निरीक्षण किया। ओर
रिव्यूइंग ऑफिसर ने विजेताओं को पुरुस्कार वितरित किए। फिर ये जांबाज अंतिम पग भर सेना में शामिल हो गए।

मुंह पर मास्क पहनकर की परेड
इस बार 333 भारतीय और 90 विदेशी कैडेट आईएमए से प्रशिक्षण पूरा कर भारतीय सेना और विदेशी कैडेट अपने देशों की कमान संभालने को तैयार हो गए

हैं। ऐसा पहली बार हुवा है जब कैडेट बिना अपने माता-पिता और रिश्तेदारों के अंतिम पग भरा।
पूरी परेड के दौरान भी कैडेट ने मुंह पर मास्क पहनकर कर रखा

पहली बार ऐसा हुआ कि आईएमए की पासिंग आउट परेड (पीओपी) के दौरान ड्रिल स्क्वायर पर सीना चौड़ा किए कदमताल करके अपने बेटे को देखने और उसके कंधों पर पीप्स सितारे सजाने की माता-पिता की इच्छा पूरी नहीं हुई। पर उन सभी माता ,पिता, भाई, बहन, को ख़ुशी इससे बढ़कर थी कि उनका बेटा, भाई,
आज सेना मैं अफसर बना गया है इससे बड़ा दिन ओर बड़ी ख़ुशी ओर क्या हो सकती है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here