उत्तराखंड मैं परिणीता बडोनी, ने निर्मात्री माँ शक्ति पिक्चर्स के बैनर तले इस कोरोना काल मैं
भयानक महामारी से जूझ रहे , लड़ रहे देशवासियों को जागरूक और सजग करने के उद्देश्य से तीन शॉर्ट फिल्मों का निर्माण किया ।
इसके लिए आपको बधाई

जिसमे

1- कोरोना से डरो ना
(हिंदी में जो सामाजिक/शारीरिक दूरी पर आधारित है) अवधि 3.45 मिनट।

2- एक पहल…
(हिंदी में जो ये बताती है कि यदि आपके परिवार में किसी सदस्य में कोरोना के लक्षण दिखते हैं तो उसे छुपाएं नहीं बल्कि बताएं) अवधि 5.24 मिनट और…

3- थेचवाणी
(गढ़वाली में जो lockdown के नियमों का पालन करने के बारे में शिक्षा देती है) अवधि 6.49 मिनट।
इन फिल्मों का निर्माण हम परिजनों ने सामाजिक/शारीरिक दूरी और lockdown के नियमों का पालन करते हुए किया है।

इन तीनों फिल्मों को
परिणीता बडोनी के पति श्री सुनील बडोनी जी ने लिखा और निर्देशित किया है। फिल्मों के डीओपी और एडिटर भीं परिणीता बडोनी जी के
बेटे सारांश बडोनी हैं और अभिनय में श्री सुनील बडोनी, श्री दिनेश बौड़ाई, परिणीता बडोनी और सारांश बडोनी हैं।

आपको बता दे कि माँ शक्ति पिक्चर्स उत्तराखंड की प्रतिष्ठित फ़िल्म निर्माण संस्था है। इससे पहले इसी बैनर की गढ़वाली फ़िल्म *बाटा की ब्योली* ने यूट्यूब पर अच्छी खासी धूम मचा दी थी। फ़िल्म के पहले भाग को महज तीन महीने में ही लगभग पौने दो लाख दर्शक देख चुके हैं और दूसरे भाग को भी अभी तक 83,296 लोग देख चुके हैं।


माँ शक्ति पिक्चर्स ने *औलाद* नाम से हिंदी में आधा घंटे की एक शार्ट फ़िल्म अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म समारोहों के लिए बनाई थी जो विभिन्न फेस्टिवल्स में फाइनल/सेमी फाइनल और आधिकारिक प्रविष्टि के रूप में अपनी छाप छोड़ चुकी है।
अब ये फ़िल्म यूट्यूब पर ही बहुत पसंद की जा रही है और मात्र 4 महीनों में ही इस फ़िल्म को 1,92,694 लोग देख चुके हैं।

परिणीता बडोनी जी को बहुत बहुत बधाई अपने समाज को जागरूक करने के लिए अपने स्तर से बहुत अच्छा प्रयास किया है
इसके साथ ही आपने जरुतमद लोगो को राशन भी वितरण किया है।

1- कोरोना से डरो ना

2- एक पहल…

3- थेचवाणी


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here