उत्तराखंड से बड़ी ख़बर :
तीन जमाती कोरोना पॉजिटिव, रामपुर से जमात में शामिल होकर लौटे थे ऊधमसिंह नगर बोला उत्तराखंड मुख्यमंत्री जी अब भगवान के लिए लगा दो कर्फ्यू , या करो समय कम!!

महत्वपूर्ण जानकारी:
संक्रमित निकले तीनों जमाती पिछले 15 दिनों से राज्य से घूम रहे थे।

ये भी जाने :
देहरादून में छह, पौड़ी जनपद के कोटद्वार में एक कोरोना संक्रमित मरीज पाया गया था।

आपको बता दे कि उत्तराखंड में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के तीन और मामले सामने आए हैं।
ओर ये तीनों संक्रमित मरीज हल्द्वानी के ही हैं। ये तीनों रामपुर जमात में शामिल होकर आए थे। एक दिन पहले रुद्रपुर पुलिस ने इनको पकड़कर 10 अन्य के साथ पंतनगर विवि के क्वारंटीन सेंटर में रखा था।

अपने उत्तराखंड में अब तक कोरोना पॉजिटिव के 10 मामले सामने आ चुके हैं।
आपको बता दे कि बुधवार को कोरोना संक्रमण के संदिग्ध लक्षण दिखाई देने पर ऊधमसिंह नगर जिला अस्पताल से  सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। फिर मेडिकल कालेज हल्द्वानी से आई जांच रिपोर्ट में तीन मरीजों में कोरोना संक्रमण पॉजिटिव मिला है। बता दें कि पुलिस ने बुधवार को उत्तराखंड की सीमा पार कर रहे 13 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया किया था। 
ये भी बताया जा रहा है कि तीन संक्रमित 15 दिनों से राज्य से घूम रहे थे। प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने पर स्वास्थ्य विभाग में खलबली है

स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. अमिता उप्रेती ने तीन सैंपल की रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से तीन मरीजों की केस हिस्ट्री पता की जा रही है। संक्रमित मरीजों को आइसोलेशन में कड़ी निगरानी में रखा गया है। ऊधमसिंह नगर के एसएसपी बरजिंदर जीत सिंह ने बताया कि 13 में से तीन जमातियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रुद्रपुर शहरवासियों को घबराने की जरूरत नहीं है। तीनों को पूरे एहतियात बरतते हुए आइडियल ड्रिल के साथ रेलवे स्टेशन से ले जाकर क्वारंटीन वार्ड में ले जाया गया था।
वही प्रदेश में कोरोना संदिग्ध जमातियों को क्वारंटीन करने की कार्रवाई जारी है। 173 से बढ़कर ये आंकड़ा अब 292 तक पहुंच गया है। इसी बीच पुलिस लॉक डाउन के उल्लंघन में 94 मुकदमे दर्ज कर 311 लोगों को गिरफ्तार किया हैं।
बहराल उत्तरखण्ड इस बात कह रहा है कि अब लाकडान का समय कम है लिहाज़ा आज से गिनकर 12 दिन ओर लिहाज़ा
राज्य सरकार मैदानी इलाकों मैं या तो पूरी तरह कर्फ़्यू लगा दे
ख़ास कर उधम सिंह नगर जिले मे , या फिर छूट की समय सीमा कम कर दे
जैसे सुबह 7 से 10 बजे के समय को वापस छूट का समय बना दे।
क्योंकि पिछले 10 दिनों मैं मैदानी जिलों मैं स्याद ही कोई वो लोग होंगे जिन्होने कम से कम आवस्यक वस्तुओ को 30 दिन के हिसाब से ना खरीदा हो।
सिर्फ सब्जी , ओर दूध ही रोज मरा की जरूरत है।
लिहाज़ा उसके लिए मैदानी जिलों मैं सुबह 7 से 10 बजे का समय बहुत है
इस तरह की आवाज अव सुनाई दे रही है
बहराल अब देखना ये होगा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र जी क्या फैसला आज लेते है।

आपको बता दे कि उत्तराखंड में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के तीन और मामले सामने आए हैं।
ओर ये तीनों संक्रमित मरीज हल्द्वानी के ही हैं। ये तीनों रामपुर जमात में शामिल होकर आए थे। एक दिन पहले रुद्रपुर पुलिस ने इनको पकड़कर 10 अन्य के साथ पंतनगर विवि के क्वारंटीन सेंटर में रखा था।

अपने उत्तराखंड में अब तक कोरोना पॉजिटिव के 10 मामले सामने आ चुके हैं।
आपको बता दे कि बुधवार को कोरोना संक्रमण के संदिग्ध लक्षण दिखाई देने पर ऊधमसिंह नगर जिला अस्पताल से  सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। फिर मेडिकल कालेज हल्द्वानी से आई जांच रिपोर्ट में तीन मरीजों में कोरोना संक्रमण पॉजिटिव मिला है। बता दें कि पुलिस ने बुधवार को उत्तराखंड की सीमा पार कर रहे 13 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया किया था। 
ये भी बताया जा रहा है कि तीन संक्रमित 15 दिनों से राज्य से घूम रहे थे। प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने पर स्वास्थ्य विभाग में खलबली है

स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. अमिता उप्रेती ने तीन सैंपल की रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से तीन मरीजों की केस हिस्ट्री पता की जा रही है। संक्रमित मरीजों को आइसोलेशन में कड़ी निगरानी में रखा गया है। ऊधमसिंह नगर के एसएसपी बरजिंदर जीत सिंह ने बताया कि 13 में से तीन जमातियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रुद्रपुर शहरवासियों को घबराने की जरूरत नहीं है। तीनों को पूरे एहतियात बरतते हुए आइडियल ड्रिल के साथ रेलवे स्टेशन से ले जाकर क्वारंटीन वार्ड में ले जाया गया था।
वही प्रदेश में कोरोना संदिग्ध जमातियों को क्वारंटीन करने की कार्रवाई जारी है। 173 से बढ़कर ये आंकड़ा अब 292 तक पहुंच गया है। इसी बीच पुलिस लॉक डाउन के उल्लंघन में 94 मुकदमे दर्ज कर 311 लोगों को गिरफ्तार किया हैं।

बहराल उत्तरखण्ड इस बात को कह रहा है कि  सरकार मैदानी इलाकों मैं या तो पूरी तरह कर्फ़्यू लगा दे
ख़ास कर उधम सिंह नगर जिले मे , या फिर छूट की समय सीमा कम कर दे
जैसे सुबह 7 से 10 बजे के समय को वापस छूट का समय बना दे।
क्योंकि पिछले 10 दिनों मैं मैदानी जिलों मैं स्याद ही कोई वो लोग होंगे जिन्होने कम से कम आवस्यक वस्तुओ को 30 दिन के हिसाब से ना खरीदा हो।
सिर्फ सब्जी , ओर दूध ही रोज मरा की जरूरत है।
लिहाज़ा उसके लिए मैदानी जिलों मैं सुबह 7 से 10 बजे का समय बहुत है
इस तरह की आवाज अव सुनाई दे रही है
बहराल अब देखना ये होगा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र जी क्या फैसला आज लेते है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here