जनधन खाते में 3 अप्रैल से डाले जाएंगे पैसे, जानें- किसे सबसे पहले मिलेगा फायदा : उत्तराखंड मैं 8 से 1 बजे तक होगा बैंक मैं लेन देन ।

जी हां आपकी लोकप्रिय मोदी सरकार ने कोरोना संकट की वजह से गरीबों के बैंक खातों में जो पैसे डालने का ऐलान किया था
देशभर में लॉकडाउन की घोषणा के बाद सरकार गरीब महिलाओं के जनधन खाते में हर महीने 500 रुपये डालेगी,
आपकों बता दे यह मदद की रकम तीन महीने तक दी जाएगी.

  आपको बता दे कि 20 करोड़ महिलाओं को मिलेगा फायदा।

आपकी लोकप्रिय मोदी बसरकार गरीब महिलाओं के जनधन खाते में हर महीने 500 रुपये डालेगी

ओर यह रकम महिलाओं के खाते में 3 अप्रैल से 9 अप्रैल के बीच डाले जाएंगे।

देशभर में लॉकडाउन की घोषणा के बाद सरकार गरीब महिलाओं के जनधन खाते में हर महीने 500 रुपये डालेगी, यह मदद की रकम तीन महीने तक दी जाएगी.
कल से जनधन खातों में डाले जाएंगे पैसे
इंडियन बैंक एसोसिएशन (IBA) ने सभी बैंकों को आदेश दिया है कि वह अपने यहां महिलाओं के जनधन खाते में 3 मार्च से 500 रुपये हर महीने डालना शुरू कर दें.
इस महीने यह रकम महिलाओं के खाते में 3 अप्रैल यानी कल से 9 अप्रैल के बीच डाले जाएंगे.

9 अप्रैल तक आएगी सभी खातों में पहली किस्त

केंद्र सरकार के आदेश के मुताबिक महिलाओं के जनधन खाते में तीन महीने तक हर महीने 500 रुपये की राशि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत मदद में दी जाएगी. खाताधारकों के अकाउंट में पैसे उनके अकाउंट नंबर के आखिरी अंक के अनुसार अलग-अलग दिन डाले जाएंगे, ताकि किसी तरह की गड़बड़ी न हो.
ये है नियम ओर इनके मुताबिक-

– जिन जनधन खातों की आखिरी डिजिट 0 या 1 है, उसे खाते में कल यानी 3 अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे
– जिन जनधन खातों की आखिरी डिजिट 2 या 3 है, उसे खाते में 4 अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे

– जिन जनधन खातों की आखिरी डिजिट 4 या 5 है, उसे खाते में 7 अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे
– जिन जनधन खातों की आखिरी डिजिट 6 या 7 है, उसे खाते में 8 अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे
– जिन जनधन खातों की आखिरी डिजिट 8 या 9 है, उसे खाते में 9 अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे


गौरतलब है कि देश में लॉकडाउन के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि गरीब महिलाओं के जनधन खातों में हर महीने 500 रुपये डाले जाएंगे. कुल जनधन खातों में 53 फीसदी महिलाओं के नाम है. इस तरह से करीब 20 करोड़ महिलाओं को इसका सीधा लाभ मिलेगा


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here