यह मेरा उत्तराखंड है ये आपका उत्तराखंड है यहां नियमों और मानकों की उड़ाई जाती है धज्जियां!! जी हां यह बात हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि देहरादून मैं कोरोना के चलते लॉक डॉन के बीच एक और हैरान करने वाला मामला सामने आ गया है।

एक शिक्षक ने शासन के आदेशों को ठेंगा दिखाते हुए खुद को रिलीव करने और दूसरे स्कूल में जॉइन करने के लिए बंद पड़े स्कूल के ताले खुलवा लिए!!
ये पूरा मामला महेश्वरानंद इंटर कॉलेज माजरा का है जानकारी अनुसार यहा एक सहायक अध्यापक को रिलीव करने के लिए पहले स्कूल खोला गया फिर अमबावती दून वैली पब्लिक स्कूल पंडितवाड़ी में ज्वाइन भी करा दिया गया
सूत्र कहते हैं कि इस पूरी प्रक्रिया को गुपचुप तरीके से अंजाम दिया गया !
सवाल ये उठता है कि जब स्कूल बंद है तो फिर महज एक शिक्षक के लिए यह सब क्यों किया गया? बताया जा रहा है कि मार्च माह के अंत में यानी कि जल्द ही 48 घंटे के अंदर प्रिंसिपल को रिटायर होना है
जिनका चार्ज लेने के लिए शिक्षक ने ये पूरी फील्डिंग

यह मेरा उत्तराखंड है ये आपका उत्तराखंड है यहां नियमों और मानकों की उड़ाई जाती है धज्जियां!! जी हां यह बात हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि देहरादून मैं कोरोना के चलते लॉक डॉन के बीच एक और हैरान करने वाला मामला सामने आ गया है।
एक शिक्षक ने शासन के आदेशों को ठेंगा दिखाते हुए खुद को रिलीव करने और दूसरे स्कूल में जॉइन करने के लिए बंद पड़े स्कूल के ताले खुलवा लिए!!
ये पूरा मामला महेश्वरानंद इंटर कॉलेज माजरा का है जानकारी अनुसार यहा एक सहायक अध्यापक को रिलीव करने के लिए पहले स्कूल खोला गया फिर अमबावती दून वैली पब्लिक स्कूल पंडितवाड़ी में ज्वाइन भी करा दिया गया
सूत्र कहते हैं कि इस पूरी प्रक्रिया को गुपचुप तरीके से अंजाम दिया गया !
सवाल ये उठता है कि जब स्कूल बंद है तो फिर महज एक शिक्षक के लिए यह सब क्यों किया गया? बताया जा रहा है कि मार्च माह के अंत में यानी कि जल्द ही 48 घंटे के अंदर प्रिंसिपल को रिटायर होना है
जिनका चार्ज लेने के लिए शिक्षक ने ये पूरी फील्डिंग सजाई।
मुख्य शिक्षा अधिकारी को भी इस पूरे मामले की जानकारी है, स्कूल प्रबंधन ने उनसे ऐसा करने की अनुमति नहीं ली.फिर भी अभी तक कोई एक्सन क्यो नही??
अब देखना ये है कि इस पूरे मामले में उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय क्या करते है।

वहीइस ख़बर को लिखने के बाद बोलता उत्तराखंड
की बात शिक्षा मंत्री अरविंद पाण्डे जी के विशेष कार्य अधिकारी तिवारी जी से फोन पर बातचीत हुई जिस पर उन्होंने कहा कि यह पूरा मामला शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे जी के संज्ञान में हैं जिसके चलते उनके निर्देश पर सीओ द्वारा दोनों ही स्कूलों को नोटिस दिए जा चुके हैं अब स्कूल खुलने पर ही कार्रवाई होगी, इसके साथ उन्होंने जानकारी दी कि हम प्रशासक भी जल्द ही इस पूरे मामले पर बैठाने जा रहे हैं
सुखद बात ये है कि शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय इस पूरे मामले पर सज्ञान ले चुके है अब बस कार्यवाही का इंतज़ार है। धन्यवाद शिक्षा मन्त्री अरविन्द पांडये जी का उम्मीद करते है कि जो भी सच होगा वे सबके सामने होगा। ओर सूत्र बोल रहे कि कल स्कूलों मैं शिक्षा मंत्री प्रशासक बैठाने जा रहे है
जो शिक्षा मंत्री अरविंद पांडये की
निर्भीक , ईमानदारी, ओर निष्ठा को दर्शाता है।
बधाई शिक्षा मंत्री जी आपको।

सजाई।
मुख्य शिक्षा अधिकारी को भी इस पूरे मामले की जानकारी है, स्कूल प्रबंधन ने उनसे ऐसा करने की अनुमति नहीं ली.फिर भी अभी तक कोई एक्सन क्यो नही??
अब देखना ये है कि इस पूरे मामले में उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय क्या करते है।

वहीइस ख़बर को लिखने के बाद बोलता उत्तराखंड
की बात शिक्षा मंत्री अरविंद पाण्डे जी के विशेष कार्य अधिकारी तिवारी जी से फोन पर बातचीत हुई जिस पर उन्होंने कहा कि यह पूरा मामला शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे जी के संज्ञान में हैं जिसके चलते उनके निर्देश पर सीओ द्वारा दोनों ही स्कूलों को नोटिस दिए जा चुके हैं अब स्कूल खुलने पर ही कार्रवाई होगी, इसके साथ उन्होंने जानकारी दी कि हम प्रशासक भी जल्द ही इस पूरे मामले पर बैठाने जा रहे हैं
सुखद बात ये है कि शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय इस पूरे मामले पर सज्ञान ले चुके है अब बस कार्यवाही का इंतज़ार है। धन्यवाद शिक्षा मन्त्री अरविन्द पांडये जी का उम्मीद करते है कि जो भी सच होगा वे सबके सामने होगा। ओर सूत्र बोल रहे कि कल स्कूलों मैं शिक्षा मंत्री प्रशासक बैठाने जा रहे है
जो शिक्षा मंत्री अरविंद पांडये की
निर्भीक , ईमानदारी, ओर निष्ठा को दर्शाता है।
बधाई शिक्षा मंत्री जी आपको।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here