श्री गुरु महाराज जी के जयकारों के साथ श्री दरबार साहिब
लाए गए नए ध्वज दण्ड (नए झण्डे जी)
105 फीट ऊंचे ध्वजदण्ड को कंधों पर लेकर श्री दरबार साहिब पहुंची संगत
इससे पूर्व 2017 में बदया गया था ध्वज दण्ड को

फोटो कैप्शनः- मेला आयोजन के दौरान संगतों को कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति जागरूक करते श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज

देहरादून। श्री गुरु राम राय जी महाराज के जयकारों के साथ
श्री सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी के जयकारों के साथ

105 फीट ऊंचे नए ध्वज दण्ड (श्री झण्डे जी) को अपने कंधों पर उठाकर बुधवार को संगत श्री दरबार साहिब पहुंची। जिन रास्तों से संगते गुजरी उन रास्तों पर दूनवासी श्रद्धाभाव के साथ स्वागत के लिए पुष्प बरसाते रहे। आपको बता दे कि हज़ारों दूनवासी सुबह से ही इस अद्भुत बेला का साक्षी बनने के लिए पलके पावड़े बिछाए इंतजार करते रहे। जहां-जहां से संगत नए झण्डे जी (ध्वज दण्ड) को लेकर गुजरी, वहां पर दूनवासियों ने पुष्पवर्षा के साथ संगत का ज़ोरदार स्वागत किया व गुरु महिमा की पावन सरोवरी में डुबकी लगाकर पुण्य अर्जित किया। काबिलेगौर है कि साल के पेड की लकड़ी को नए श्री झण्डे जी के लिए तैयार किया गया है। पिछले करीब 2 महीने से श्री झण्डे जी को तैयार करने में कई कारीगर श्री गुरु राम राय इंटर काॅलेज, मोथरोवाला में लगे हुए थे।
ऐतिहासिक श्री झण्डे जी मेले की तैयारियों के मद्देनज़र श्री दरबार साहिब में संगतों के पहुंचने का क्रम तेज़ हो गया है। इस साल नए श्री झण्डे जी चढ़ाए जाएंगे, इस पूर्व वर्ष 2017 में यह सुअवसर आया था। बुधवार सुबह से ही श्री दरबार साहिब परिसर में विशेष चहल पहल शुरू हो गई थी। पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल उत्तराखण्ड सहित आसपास के राज्यों से हज़ारों की संख्या में संगत मंगलवार शाम को ही श्री दरबार साहिब पहुंच गई थी।
श्री दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी की अगुवाई मै संगतो ने बुधवार सुबह 9ः00 बजे श्री दरबार साहिब से प्रस्थान किया। ढोल नगाड़ों व वाद्य यन्त्रों की धुनों पर संगत श्री गुरु राम राय जी महाराज के जयकारे लगाती जिससे पूरी दून घाटी गुरुमई हो गई। रास्ते भर दूनवासियों ने संगत का फूलों की बारिश के साथ जोरदार स्वागत किया।
लगभग 10ः15 बजे पैदल संगत श्री गुरु राम राय इंटर काॅलेज मोथरोवाला पहुंची। वहां पर श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने संगत को दर्शन दिए व आशीर्वाद दिया। श्री देवेन्द्र दास जी महाराज जी ने कहा कि श्री झण्डा मेला प्रेम, स्नेह सद्भाव, भाईचारा, मानवता, श्रद्धाभाव व आस्था से ओतप्रोत मेला है। इस मेले में सभी धर्मों से जुड़े लोग श्री गुरू महाराज का आशीर्वाद प्राप्त करने आते हैं। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी श्री झण्डे जी मेले को पूरी आस्था व श्रद्धाभाव के साथ मनाया जाएगा। 13 मार्च 2020 को श्री झण्डे जी के आरोहण के साथ ही एतिहासिक श्री झण्डा मेला शुरू हो जाएगा।
पूजा अर्चना के बाद लगभग 11ः50 बजे संगत ने श्री झण्डे जी ध्वज दण्ड को अपने कंधों पर उठा लिया व श्री गुरु राम राय जी महाराज के जयकारों, सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी के जयकारों
के बीच श्री दरबार साहिब के लिए प्रस्थान किया। संगत नए झण्डे जी (ध्वज दण्ड) को श्री गुरु राम राय इंटर काॅलेज मोथरोवाला से बंजारावाला, कारगी चैक, पथरी बाग, श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल पटेल नगर, लाल पुल, सहारनपुर रोड से सहारनपुर चैक होते हुए श्री दरबार साहिब लेकर पहुंचे। श्री दरबार साहिब परिसर में पहुंचते ही संगत ने ढोल नगाड़ों की थाप पर जमकर नृत्य किया।
श्री महाराज जी ने संगतों को
कोरोना वायरस के प्रति जागरूक किया
श्री गुरु राम राय दरबार साहिब के श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने सभी संगतों व श्रद्धालुओं के नाम संदेश जारी कर कहा कि कोरोना वायरस के प्रति सजगता बरतें। स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना वायरस के प्रति बचाव की एडवाइज़री जारी की गई है सभी उसका अनुपालन करें। सभी संगतों व श्रद्धालुओं का आह्वाह्न किया है कि श्री झण्डा मेले में शामिल होने के दौरान संक्रमण से बचाव रखें, खाॅसी या छींक आने पर मोटे रूमाल या कपड़े का इस्तेमाल करें। मेला स्थल को कोरोना वायरस रहित बनाने में सभी अपना सहयोग दें।
श्री दरबार साहिब मेला स्थल पर लगे थर्मल स्कैनर
श्री दरबार साहिब के वरिष्ठ जनसम्पर्क अधिकारी भूपेन्द्र रतूड़ी ने बताया कि श्री झण्डा जी मेला प्रबन्धन समिति की ओर से मेला स्थल पर 2 थर्मल स्कैनर लगाए गए हैं। एक थर्मल स्कैनर श्री झण्डे जी की ओर से प्रवेश करने वाले प्रवेश द्वार पर व दूसरा स्कैनर दर्शनी गेट की ओर के प्रवेश द्वार पर लगाया गया है।

मेले में आने वाली किसी भी संगत को कोरोना वायरस या अन्य किसी संक्रमण की वजह से उपचार मिलने में परेशानी न हो इसके लिए व्यापक इंतज़ाम किए गए हैं। बार बार इस बात को विभिन्न माध्यमों से दोहराया जाएगा कि किसी भी मरीज़ को बुखार, सांस लेने में तकलीफ, आॅखों या नाक से पानी बहने की शिकायत हो तो वे तुरन्त मेला अस्पताल में डाॅक्टर से सम्पर्क करेंगे। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल की एम्बुलेंस 24 घण्टे राउंड दि क्लाॅक मेला स्थल पर उपलब्ध रहेगी। किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए संदिग्ध मरीजों को श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में रैफर किया जाएगा।

13 मार्च से शुरू होगा एतिहासिक श्री झण्डा मेला
13 मार्च को एतिहासिक श्री झण्डे जी का आरोहण होगा। इसी के साथ श्री झण्डे जी मेले का विधिवत शुभारंभ हो जाएगा। श्री दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज की अगुआई में 13 मार्च शुक्रवार को 105 फीट ऊंचे झण्डे जी का अरोहण किया जाएगा। श्री दरबार साहिब मेला प्रबन्ध समिति के व्यवस्थापक श्री के0सी0 जुयाल ने बताया कि दरबार साहिब प्रबन्धन की ओर से संगतों के ठहरने की समूचित व्यवस्था कर ली गई है। श्री गुरु राम राय बिंदाल स्कूल, श्री गुरु राम राय तालाब स्कूल, श्री गुरु राम राय राजा रोड, श्री गुरु राम राय भण्डारी बाग स्कूल, श्री गुरु राम राय पटेल नगर स्कूल सहित श्री गुरु राम राय देहरादून की सभी शाखाओं में संगतों के ठहरने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा दून की सभी धर्मशालाओं में संगत के ठहरने का इंतजाम किया गया है। एक दर्जन छोटे बड़े लंगरांे की भी व्यवस्था की गई है। सुरक्षा व्यवस्था के अन्तर्गत 12 मार्च से मेला थाना शुरू हो जाएगा।
गिलाफ सिलने का काम तेज़
बुधवार को गिलाफ सिलने का काम तेज़ गति से हुआ। महिलाएं सिलाई मशीन की मदद से गिलाफ तैयार करने के काम में जुटीं रहीं। काबिलेगौर है कि श्री झण्डे जी पर तीन तरह के गिलाफों का आवरण होता है। सबसे भीतर की ओर सादे गिलाफ चढ़ाए जाते हैं इनकी संख्या 41 (इकतालीस) होती है। मध्यभाग में शनील के गिलाफ चढ़ाए जाते हैं इनकी संख्या 21 (इक्कीस) होती है। सबसे बाहर की ओर दर्शनी गिलाफ चढ़ाया जाता है इनकी संख्या 1 (एक) होती है।
दूधिया रोशनी से नहाया श्री दरबार साहिब
श्री दरबार साहिब प्रबन्धन की ओर से आकर्षक साजो सज्जा का विशेष इंतजाम किया गया है। मेला अधिकारी श्री के सी जुयाल ने जानकारी दी कि पूरे दरबार साहिब परिसर में विशेष साजो सज्जा की गई है। खासतौर पर रात के समय श्री दरबार साहिब की आभा देखते ही बन रही है। चारों ओर से पड़ रही दुधिया रोशनी के बीच श्री दरबार साहिब बेहद मनमोहक व आकर्षक दिखाई दे रहा है।
गुरु भक्ति में रंगी संगत
देश विदेश से आई संगत गुरु भक्ति में पूरी तरह रम चुकी है। संगतों ने एक से बढ़कर एक गुरु महाराज के भजन गाए व गुरु भक्ति की महिमा में डूबे रहे। बच्चे बड़े महिलाओं ने गुरु महिमा के गुणगान में बढ़चढ़ कर भागीदारी की।
सुरक्षा के कड़े इंतजाम, मेला थाना कल से:- मेला स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनज़र कड़े इंतजामात किए गए हैं। गुरुवार से विधिवत मेला थाना शुरू हो जाएगा। शहर कोतवाली के एसएसआई व मेला थाना प्रभारी ने रविवार को मेला स्थल का मौका मुआयना किया। मेला थाना में आवश्यकतानुसार पुलिस बल उपलब्ध रहेगा। पुलिस अधिकारी समय-समय पर मेलास्थल का दौरा कर आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं। इसके अलावा किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए अग्निशमन दल की 5 गाडियां मेला स्थल पर तैनात रहेंगी। श्री झण्डा मेला संचालन समिति की ओर से 40 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं जो पूरे मेले की हर गतिविधि को तीसरी नज़र से कैद कर रहे हैं।

साहिब
लाए गए नए ध्वज दण्ड (नए झण्डे जी)
105 फीट ऊंचे ध्वजदण्ड को कंधों पर लेकर श्री दरबार साहिब पहुंची संगत
इससे पूर्व 2017 में बदया गया था ध्वज दण्ड को

मेला आयोजन के दौरान संगतों को कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति जागरूक करते श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज

देहरादून। श्री गुरु राम राय जी महाराज के जयकारों के साथ
श्री सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी के जयकारों के साथ

105 फीट ऊंचे नए ध्वज दण्ड (श्री झण्डे जी) को अपने कंधों पर उठाकर बुधवार को संगत श्री दरबार साहिब पहुंची। जिन रास्तों से संगते गुजरी उन रास्तों पर दूनवासी श्रद्धाभाव के साथ स्वागत के लिए पुष्प बरसाते रहे। आपको बता दे कि हज़ारों दूनवासी सुबह से ही इस अद्भुत बेला का साक्षी बनने के लिए पलके पावड़े बिछाए इंतजार करते रहे। जहां-जहां से संगत नए झण्डे जी (ध्वज दण्ड) को लेकर गुजरी, वहां पर दूनवासियों ने पुष्पवर्षा के साथ संगत का ज़ोरदार स्वागत किया व गुरु महिमा की पावन सरोवरी में डुबकी लगाकर पुण्य अर्जित किया। काबिलेगौर है कि साल के पेड की लकड़ी को नए श्री झण्डे जी के लिए तैयार किया गया है। पिछले करीब 2 महीने से श्री झण्डे जी को तैयार करने में कई कारीगर श्री गुरु राम राय इंटर काॅलेज, मोथरोवाला में लगे हुए थे।
ऐतिहासिक श्री झण्डे जी मेले की तैयारियों के मद्देनज़र श्री दरबार साहिब में संगतों के पहुंचने का क्रम तेज़ हो गया है। इस साल नए श्री झण्डे जी चढ़ाए जाएंगे, इस पूर्व वर्ष 2017 में यह सुअवसर आया था। बुधवार सुबह से ही श्री दरबार साहिब परिसर में विशेष चहल पहल शुरू हो गई थी। पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल उत्तराखण्ड सहित आसपास के राज्यों से हज़ारों की संख्या में संगत मंगलवार शाम को ही श्री दरबार साहिब पहुंच गई थी।
श्री दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी की अगुवाई मै संगतो ने बुधवार सुबह 9ः00 बजे श्री दरबार साहिब से प्रस्थान किया। ढोल नगाड़ों व वाद्य यन्त्रों की धुनों पर संगत श्री गुरु राम राय जी महाराज के जयकारे लगाती जिससे पूरी दून घाटी गुरुमई हो गई। रास्ते भर दूनवासियों ने संगत का फूलों की बारिश के साथ जोरदार स्वागत किया।


लगभग 10ः15 बजे पैदल संगत श्री गुरु राम राय इंटर काॅलेज मोथरोवाला पहुंची। वहां पर श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने संगत को दर्शन दिए व आशीर्वाद दिया। श्री देवेन्द्र दास जी महाराज जी ने कहा कि श्री झण्डा मेला प्रेम, स्नेह सद्भाव, भाईचारा, मानवता, श्रद्धाभाव व आस्था से ओतप्रोत मेला है। इस मेले में सभी धर्मों से जुड़े लोग श्री गुरू महाराज का आशीर्वाद प्राप्त करने आते हैं। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी श्री झण्डे जी मेले को पूरी आस्था व श्रद्धाभाव के साथ मनाया जाएगा। 13 मार्च 2020 को श्री झण्डे जी के आरोहण के साथ ही एतिहासिक श्री झण्डा मेला शुरू हो जाएगा।
पूजा अर्चना के बाद लगभग 11ः50 बजे संगत ने श्री झण्डे जी ध्वज दण्ड को अपने कंधों पर उठा लिया व श्री गुरु राम राय जी महाराज के जयकारों, सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी के जयकारों
के बीच श्री दरबार साहिब के लिए प्रस्थान किया। संगत नए झण्डे जी (ध्वज दण्ड) को श्री गुरु राम राय इंटर काॅलेज मोथरोवाला से बंजारावाला, कारगी चैक, पथरी बाग, श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल पटेल नगर, लाल पुल, सहारनपुर रोड से सहारनपुर चैक होते हुए श्री दरबार साहिब लेकर पहुंचे। श्री दरबार साहिब परिसर में पहुंचते ही संगत ने ढोल नगाड़ों की थाप पर जमकर नृत्य किया।
श्री महाराज जी ने संगतों को
कोरोना वायरस के प्रति जागरूक किया


श्री गुरु राम राय दरबार साहिब के श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने सभी संगतों व श्रद्धालुओं के नाम संदेश जारी कर कहा कि कोरोना वायरस के प्रति सजगता बरतें। स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना वायरस के प्रति बचाव की एडवाइज़री जारी की गई है सभी उसका अनुपालन करें। सभी संगतों व श्रद्धालुओं का आह्वाह्न किया है कि श्री झण्डा मेले में शामिल होने के दौरान संक्रमण से बचाव रखें, खाॅसी या छींक आने पर मोटे रूमाल या कपड़े का इस्तेमाल करें। मेला स्थल को कोरोना वायरस रहित बनाने में सभी अपना सहयोग दें।
श्री दरबार साहिब मेला स्थल पर लगे थर्मल स्कैनर
श्री दरबार साहिब के वरिष्ठ जनसम्पर्क अधिकारी भूपेन्द्र रतूड़ी ने बताया कि श्री झण्डा जी मेला प्रबन्धन समिति की ओर से मेला स्थल पर 2 थर्मल स्कैनर लगाए गए हैं। एक थर्मल स्कैनर श्री झण्डे जी की ओर से प्रवेश करने वाले प्रवेश द्वार पर व दूसरा स्कैनर दर्शनी गेट की ओर के प्रवेश द्वार पर लगाया गया है।

मेले में आने वाली किसी भी संगत को कोरोना वायरस या अन्य किसी संक्रमण की वजह से उपचार मिलने में परेशानी न हो इसके लिए व्यापक इंतज़ाम किए गए हैं। बार बार इस बात को विभिन्न माध्यमों से दोहराया जाएगा कि किसी भी मरीज़ को बुखार, सांस लेने में तकलीफ, आॅखों या नाक से पानी बहने की शिकायत हो तो वे तुरन्त मेला अस्पताल में डाॅक्टर से सम्पर्क करेंगे। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल की एम्बुलेंस 24 घण्टे राउंड दि क्लाॅक मेला स्थल पर उपलब्ध रहेगी। किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए संदिग्ध मरीजों को श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में रैफर किया जाएगा।

13 मार्च से शुरू होगा एतिहासिक श्री झण्डा मेला
13 मार्च को एतिहासिक श्री झण्डे जी का आरोहण होगा। इसी के साथ श्री झण्डे जी मेले का विधिवत शुभारंभ हो जाएगा। श्री दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज की अगुआई में 13 मार्च शुक्रवार को 105 फीट ऊंचे झण्डे जी का अरोहण किया जाएगा। श्री दरबार साहिब मेला प्रबन्ध समिति के व्यवस्थापक श्री के0सी0 जुयाल ने बताया कि दरबार साहिब प्रबन्धन की ओर से संगतों के ठहरने की समूचित व्यवस्था कर ली गई है। श्री गुरु राम राय बिंदाल स्कूल, श्री गुरु राम राय तालाब स्कूल, श्री गुरु राम राय राजा रोड, श्री गुरु राम राय भण्डारी बाग स्कूल, श्री गुरु राम राय पटेल नगर स्कूल सहित श्री गुरु राम राय देहरादून की सभी शाखाओं में संगतों के ठहरने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा दून की सभी धर्मशालाओं में संगत के ठहरने का इंतजाम किया गया है। एक दर्जन छोटे बड़े लंगरांे की भी व्यवस्था की गई है। सुरक्षा व्यवस्था के अन्तर्गत 12 मार्च से मेला थाना शुरू हो जाएगा।
गिलाफ सिलने का काम तेज़
बुधवार को गिलाफ सिलने का काम तेज़ गति से हुआ। महिलाएं सिलाई मशीन की मदद से गिलाफ तैयार करने के काम में जुटीं रहीं। काबिलेगौर है कि श्री झण्डे जी पर तीन तरह के गिलाफों का आवरण होता है। सबसे भीतर की ओर सादे गिलाफ चढ़ाए जाते हैं इनकी संख्या 41 (इकतालीस) होती है। मध्यभाग में शनील के गिलाफ चढ़ाए जाते हैं इनकी संख्या 21 (इक्कीस) होती है। सबसे बाहर की ओर दर्शनी गिलाफ चढ़ाया जाता है इनकी संख्या 1 (एक) होती है।
दूधिया रोशनी से नहाया श्री दरबार साहिब
श्री दरबार साहिब प्रबन्धन की ओर से आकर्षक साजो सज्जा का विशेष इंतजाम किया गया है। मेला अधिकारी श्री के सी जुयाल ने जानकारी दी कि पूरे दरबार साहिब परिसर में विशेष साजो सज्जा की गई है। खासतौर पर रात के समय श्री दरबार साहिब की आभा देखते ही बन रही है। चारों ओर से पड़ रही दुधिया रोशनी के बीच श्री दरबार साहिब बेहद मनमोहक व आकर्षक दिखाई दे रहा है।


गुरु भक्ति में रंगी संगत
देश विदेश से आई संगत गुरु भक्ति में पूरी तरह रम चुकी है। संगतों ने एक से बढ़कर एक गुरु महाराज के भजन गाए व गुरु भक्ति की महिमा में डूबे रहे। बच्चे बड़े महिलाओं ने गुरु महिमा के गुणगान में बढ़चढ़ कर भागीदारी की।
सुरक्षा के कड़े इंतजाम, मेला थाना कल से:- मेला स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनज़र कड़े इंतजामात किए गए हैं। गुरुवार से विधिवत मेला थाना शुरू हो जाएगा। शहर कोतवाली के एसएसआई व मेला थाना प्रभारी ने रविवार को मेला स्थल का मौका मुआयना किया। मेला थाना में आवश्यकतानुसार पुलिस बल उपलब्ध रहेगा। पुलिस अधिकारी समय-समय पर मेलास्थल का दौरा कर आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं। इसके अलावा किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए अग्निशमन दल की 5 गाडियां मेला स्थल पर तैनात रहेंगी। श्री झण्डा मेला संचालन समिति की ओर से 40 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं जो पूरे मेले की हर गतिविधि को तीसरी नज़र से कैद कर रहे हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here