सच क्या है और झूठ क्या ये तो राजनीति के वो चाणक्य ही जाने
जो रखते है सब पर अपनी पैनी नज़र।


फिलहाल इस बीच ख़बर है कि
पिछले दिनों राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की अफवाहों के बीच केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को लेकर सोशल मीडिया में अपलोड खबर पर एक पोर्टल के खिलाफ डालनवाला कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। ओर आरोप है कि पोर्टल पर भ्रामक खबर प्रसारित कर केंद्रीय मंत्री की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाया गया। डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि प्रीतम रोड स्थित केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के कैंप कार्यालय प्रभारी बालकृष्ण चमोली ने  डालनवाला कोतवाली में तहरीर दी है। तहरीर में आरोप लगाया कि 18 फरवरी की दोपहर को दस्तावेज पोर्टल ने सोशल मीडिया पर असत्य खबर अपलोड की।


उन्होंने आरोप लगाया कि पोर्टल संचालक की ओर से निराधार आरोप लगाए गए हैं। बताया कि केंद्रीय मंत्री निशंक की छवि को नुकसान पहुंचाने की दृष्टि से सोशल मीडिया पर प्रसारित किया गया।  बालकृष्ण का आरोप है कि पोर्टल संचालक ने जानबूझकर कूटरचित शब्दों का प्रयोग कर इलेक्ट्रोनिक दस्तावेज तैयार कराया, जिससे केंद्रीय मंत्री की ख्याति को नुकसान पहुंचा है। उहोंने मुकदमा दर्ज करने की मांग की। एसएसआई पंकज देवरानी ने बताया कि दस्तावेज पोर्टल के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।


वही ख़बर ये भी है कि
उत्तराखंड में सत्ता परिवर्तन की साजिश में शामिल बताकर मानव संसाधन विकास मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक के खिलाफ दुष्प्रचार करने के इसी मामले में

इस पोर्टल पर दूसरा मुकदमा भी दर्ज किया गया है।
ख़बर है कि भाजपा नेता जयबल्लभ पंत की शिकायत पर पोर्टल संचालक के खिलाफ निशंक की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने, कूट रचना कर छवि धूमिल करने और गलत जानकारी प्रसारित करने जैसे आरोप लगाए हैं।ओर इसी मामले में देहरादून में भी एक केस दर्ज हो चुका है।

बहराल अब देखना ये होगा की इस पूरे मामले मै क्या
निष्पक्ष कार्रवाई पुलिस करती भी है या नहीं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here