त्रिवेंद्र सरकार के काम काज के तीन साल 18 मार्च को पूरे हो रहे है ऐसे भी विपक्ष मै बैठी कांग्रेस ने त्रिवेन्द्र सरकार को घेरने की रणनीति तेयार कर ली है भले ही
उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अभी समय हो पर कांग्रेस ने अभी से भाजपा के खिलाफ आंदोलन का एलान कर दिया है।


ओर प्रदेश कांग्रेस ने प्रदेश में भाजपा की विफलताओं का चिट्ठा भी तैयार कर लिया है।
इसमें ख़ास तौर से उन्होंने भ्रष्टाचार से लेकर लोकायुक्त के गठन और किसानों की कर्ज माफी समेत कई मुद्दे रखे है प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रेसवार्ता करते हुए नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने अपने मुद्दों में डबल इंजन और केंद्र सरकार को भी शामिल किया है। कांग्रेस अब सरकार के खिलाफ सड़कों पर संघर्ष करेगी। उन्होंने कहा कि  भ्रष्टाचार, स्वास्थ्य, शिक्षा, बढ़ती महंगाई, कानून व्यवस्था, देवस्थानम बोर्ड, मंदी और बेरोजगारी समेत कई मुद्दों पर त्रिवेंद्र सरकार को जनता के बीच कांग्रेस घेरने जा रही है


बता दे कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि भाजपा की त्रिवेंद्र सरकार अगले माह 18 मार्च को तीन साल पूरे करेगी। ओर अब हम त्रिवेन्द्र सरकार की तीन साल की विफलताओं का पत्र तैयार कर लिया है। जिसे बुकलेट की शक्ल में प्रदेशभर में आम जनता तक पहुंचाया जाएगा।ओर विधानसभा और ब्लॉकों स्तर पर होने वाले धरना-प्रदर्शनों में पार्टी के बड़े नेता शिरकत करेंगे।

राज्यों के विधानसभा चुनावों में भाजपा को मिल रही शिकस्त ने उत्तराखंड में भी कांग्रेस के लिए नई उम्मीदें जगा दी हैं। इस वजह से पार्टी अब विधानसभा चुनाव से पहले बचे वक्त को गंवाने के बजाए भाजपा के खिलाफ माहौल बनाने में जुटेगी। दून स्थित नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के आवास पर प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह की कल देर शाम तक चली बैठक में पार्टी की आंदोलनात्मक रणनीति को अंतिम रूप दिया गया। पार्टी ने तीन साल की सरकार की खामियों को उजागर करने के लिए बुकलेट को अंतिम रूप दिया है। यह तय किया गया कि भाजपा सरकार की तीन वर्ष की नाकामियों को कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्षों के माध्यम से गांव-गांव और वार्ड-वार्ड पहुंचाया जाएगा। महंगाई को लेकर पिछली कांग्रेस सरकार और मौजूदा सरकार के आंकड़ों को भी जनता के बीच रखने की तैयारी है।
नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश ने कहा कि कांग्रेस अब सरकार के खिलाफ सड़कों पर संघर्ष करेगी। बढ़ती महंगाई, कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार, स्वास्थ्य, शिक्षा, देवस्थानम बोर्ड, बेरोजगारी, मंदी समेत कई मुद्दों पर सरकार को जनता के बीच घेरेगी। पार्टी ने अपने मुद्दों में डबल इंजन और केंद्र सरकार को भी शामिल किया है। इसके लिए प्रदेश की माली हालत को निशाने पर लिया जाएगा।

वही प्रदेश में भाजपा सरकार में अस्थिरता को लेकर सोशल मीडिया पर मचे हो-हल्ले पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने चुटकी ली। उन्होंने कहा कि किसे मुख्यमंत्री या मंत्री बनाना है या नहीं। भाजपा का इतिहास प्रदेश में नाटकीय तरीके से मुख्यमंत्री बनाने का रहा है।
सोशल मीडिया पर प्रदेश में राजनीतिक अस्थिरता को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में मीडिया से बातचीत में प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री को बनाए रखना या बदलना, अथवा किसे मंत्री बनाना है, भाजपा का अंदरूनी मामला है। इससे कांग्रेस को कोई लेना-देना नहीं है। यह भाजपा को तय करना है कि वह क्या चाहती है। राज्य गठन के बाद से भाजपा जब-जब सत्ता में आई है, उसने नाटकीय तरीके से ही मुख्यमंत्री बनाए हैं।
प्रदेश में राजनीतिक अस्थिरता को लेकर कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की सोशल मीडिया पर टिप्प्णी पर उन्होंने किसी तरह की टिप्पणी से इन्कार किया। उन्होंने कहा कि हरीश रावत पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं। उन्होंने भाजपा पर निशाना साधा है।बहराल 17 फरवरी से कांग्रेस त्रिवेन्द्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोलने जा रही है वो भी मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र की विधानसभा डोईवाला से
जिसके बाद 18 व फिर 26 तारीख को इंदिरा ह्रदयेश ने दावा किया है कि लगभग 50 हज़ार से अधिक लोग हाथों मैं लालटेन लेकर त्रिवेन्द्र सरकार द्वारा किये गए विकास के काम काज को तलाशेंगे ।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here