संस्कृत विद्यालय-महाविद्यालय शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बनने पर : डॉ राम भूषण बिजल्वाण जी को बोलता उत्तराखंड की तरफ से बहुत बहुत बधाई ।

संस्कृत विद्यालय-महाविद्यालय शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बने : डॉ राम भूषण बिजल्वाण
आपको बता दे कि 10 फरबरी 2020 को संस्कृत महाविद्यालय-विद्यालय शिक्षक संघ के प्रदेश स्तरीय चुनाव संपन्न हुए जिसमें प्रदेश अध्यक्ष के पद पर डॉ राम भूषण बिजल्वाण दो तिहाई मतों से विजयी हुये। साथ ही प्रदेश महामंत्री डॉ नवीन जोशी , संरक्षक कुमाऊँ मण्डल डॉ कीर्ति बल्लभ जोशी, संरक्षक गढ़वाल मंडल डॉ राजेन्द्र गैरोला प्रदेश संयोजक डॉ द्रबेश्वर थपलियाल, प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ हर्षमणी रतूड़ी , कोषाध्यक्ष श्री सुनील बिजल्वाण , प्रदेश प्रचार मंत्री डॉ मुकेश खंडूड़ी लेखा परीक्षक डॉ विद्या नेगी, संयुक्त मंत्री श्री कैलाश सेमवाल, संयुक्त मंत्री डॉ दिनेश चंद्र ध्यानी , निर्वाचित हुये।यह कार्यकारिणी आगामी तीन वर्षों के लिए निर्वाचित हुयी, सभी पदाधिकारियों को आज ही शपथ मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ रमेश जोशी और सहायक चुनाव अधिकारी डॉ मुकेश द्विवेदी द्वारा दिलाई गयी। अपने पहले अध्यक्षीय भाषण में डॉ बिजल्वाण ने सभी मतदाता शिक्षकों का धन्यवाद करते हुए कहा कि प्रदेश में संस्कृत को द्वितीय राजभाषा का दर्जा प्राप्त होने के बाद भी दिन प्रतिदिन संस्कृत शिक्षा का ह्रास हो रहा है लेकिन अब ये नही चलेगा संस्कृत के अधिकारियों को संस्कृत हित में कार्य करने की आवश्यकता है सबसे पहले सरकार को संस्कृत और महाविद्यालय जो आज भी एक साथ चल रहे उनको अलग अलग करना होगा माध्यमिक स्तर पर पाठ्यक्रम में बहुत असमानता है उसे ठीक करना आवश्यक है , 200 से अधिक शिक्षक बहुत ही कम मानदेय पर वर्षों से कार्य कर रहे हैं उनका तदर्थीकरण होना आवश्यक है ऐसे तमाम मुद्दों को अध्यक्ष ने अपने पहले संबोधन प्रमुखता से रखा।
इस अवसर पर निवर्तमान अध्यक्ष डॉ ओम प्रकाश पूर्वाल , डॉ संतोष मुनि, डॉ कीर्ति बल्लभ , डॉ शैलेंद्र डंगवाल, प्रबंधकीय संस्कृत शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ जनार्दन कैरवान, के सैकड़ों शिक्षक उपस्थित थे।
सादर सहित


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here