मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को प्रेमनगर, देहरादून में सी.ए.ए. के समर्थन में कैंट विधानसभा द्वारा आयोजित रैली को फ्लैग आफ किया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम के कारण आज विपक्षी दल कांग्रेस एवं वामपंथियों द्वारा देशव्यापी कोहराम मचाने का प्रयास किया जा रहा है। भारत का चाहे राजवंशी इतिहास हो या लोकतांत्रिक काल का इतिहास, शरणागत को आश्रय देने की हमारी परम्परा रही हैं।


मुख्यमंत्री ने कहा कि जब ईजराइलियों को तमाम देशों अपने देश में घुसने तक पर प्रतिबंध लगाया, तब भारत ही एकमात्र देश था जिसने तब भी यहूदियों को संरक्षण दिया। पारसियों पर दुनिया में अटैक हुए, या तो उनका धर्मातंरण हुआ था, या तो उनको खदेड़ दिया गया। केवल भारत ही एकमात्र ऐसा देश है, जहां किसी भी समाज के साथ अन्याय नहीं हुआ। जब चीन ने तिब्बत पर कब्जा किया, तमाम तिब्बत शरणार्थियों को भारत में जगह दी और वे आज भारत मे पूरे अमन चैन के साथ रह रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह नागरिकता देने वाला कानून है, लेने वाला नहीं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा लिया गया यह निर्णय राष्ट्रहित से जुड़ा है, इसके लिए उत्तराखण्ड उनको बधाई देता हैं।
सीएए के समर्थन में आयोजित रैली में विधायक हरबंस कपूर, उपाध्यक्ष बीस सूत्रीय कार्यक्रम नरेश बंसल, भाजपा के महानगर अध्यक्ष सीताराम भट्ट, विनय गोयल एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here