मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड त्रिवेन्द्र सिह रावत ने शनिवार को डा0 रघुनन्दन सिह टोलिया प्रशासन अकादमी नैनीताल में लोक सेवकों के 14वां आधारभूत प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्वलित कर किया। उन्होने लोक सेवकों को सम्बोधित करते हुये कहा कि अधिकारी, कर्मचारी सरकार का आवरण होते हैं। इन्ही के व्यक्तित्व एवं कृतित्व से ही जनता मे सरकार की छवि की पहचान होती है। अधिकारियों, कर्मचारियो के अच्छे कार्यो से जहां सरकार की छवि अच्छी होती है वही गलत कार्यो से सरकार की छवि धूमिल भी होती है इसलिए सभी लोक सेवक नैतिक मूल्यों व कर्तव्यों को समझे व अपने जीवन मे उतारें। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने लोक सेवक अपने उत्तरदायित्यों का ईमानदारी से निर्वहन करें तथा कार्यो मे पारदर्शिता रखें। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि लोक सेवकों का दायित्व है कि वह समाज में सभी को साथ लेकर चलें, अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुये समाज में सामंजस्य स्थापित कर कार्यो का सम्पादित करें। उन्होने कहा मूझे विश्वास है कि आप सभी लोक सेवकों को जहां भी जो भी दायिव्व मिले उसे पूरी निष्ठा, ईमानदारी व पारदर्शिता से सकारात्मक सोच के साथ करेंगे। उन्होने कहा मधुर वाणी व्यवहार करते हुये सभी की बातें एवं समस्यायें इतमिनान से सुनकर जन सामान्य के कार्य सम्पन्न करायें।
मुख्यमंत्री ने चिन्ता व्यक्त करते हुये कहा कि दुनियां में एक घन्टे मे एक बोली समाप्त हो रही है इसलिए हमे अपनी बोलियोें व भाषा को जीवित रखने के लिए आगे आकर कार्य करने होंगे, तभी हमारी बोलियां, भाषा संरक्षित व विकसित होगी यह हमारा दायित्व भी है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा कुमाऊंनी भाषा की चार पुस्तकें जिनका शीर्षक ‘‘धगुलि, हंसुलि, छुबकि एवं झुमकि’’ का विमोचन किया।
सचिव माननीय मुख्यमंत्री, आयुक्त कुमायू एवं निदेशक एटीआई राजीव रौतेला ने माननीय मुख्यंत्री जी को पुष्पगुच्छ देकर एवं अंगवस्त्र भेंट कर स्वागत किया। रोतेला ने प्रशासन अकादमी के इतिहास एवं क्रियाकलापों की विस्तृत जानकारी देते हुये कहा कि अकादमी में उच्च गुणवत्ता पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, ताकि लोक सेवक दक्ष्य होकर अच्छे अधिकारी बनकर यहां से निकलंे व अपने क्षेत्रोें मे जाकर अपने जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन करें। रौतेला ने बताया कि वर्तमान में 13 महिला, 34 पुरूष कुल 47 विभिन्न सेवाओं के अधिकारी आधारभूत ट्रेनिंग ले रहे हैै। उन्होेने कहा कि हमारा प्रयास है कि हम अकादमी में और गुणवत्ता पूर्ण प्रशिक्षण प्रशिणार्थियों को दे सकें। उन्होने कहा इसके लिए एटीआई मे ओपन आडिटोरियम, नये कक्षा, कक्षों के साथ ही अन्य कार्य किये जा रहे है। उन्होने बताया कि मण्डल के जनपदों के एक-एक ब्लाक में 1 से 5 तक की कक्षाओं में कुमाऊंनी भाषा पुस्तके चलाई जायेंगी, 20 हजार पुस्तकें प्रकाशित कर जनपदों को उपलब्ध करा दी गई है जरूरत पडने पर और पुस्तकें प्रकाशित की जायेंगी।
इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने लोक सवकों के 14वें आधारभूत प्रशिक्षणार्थियों के ग्रुप फोटोग्राफी खिचवाई इसके उपरान्त अकादमी एवं केएमवीएम वेबसाइट का माउस दबाकर उदघाटन किया। निदेशक अकादमी राजीव रौतेला के नेतृत्व मे बनाई गई अकादमी पर फिल्म भी दिखाई गई। जिलाधिकारी सविन बंसल ने बेतालघाट मे संचालित टेलीमेडिसन की अद्यतन जानकारी के साथ ही नैनीझील का इसरो के माध्यम से कराये गये बैथीमेट्री विशलेषण की भी जानकारियां दी। उन्होने बताया कि जनपद मे 8 प्रसव केन्द्र प्रारम्भ किये गये है साथ ही आशा कार्यकत्रियों को पोेर्टल के माध्यम से भुगतान किया जा रहा है। प्रबन्ध निदेशक कुमाऊं मण्डल विकास निगम/ उपाध्यक्ष एनडीडीए रोहित मीणा के द्वारा नैनीताल, भीमताल, नकुचियाला, सातताल के सौन्दर्यीकरण कार्यक्रम की विस्तृत जानकारियां कम्प्यूटर के माध्यम से दी गई।
कार्यक्रम में विधायक संजीव आर्य, अपर सचिव माननीय मुख्यमंत्री/महानिदेशक सूचना डा0 मेहरबान सिह बिष्ट,मीडिया सलाहकार मुख्यमंत्री उत्तराखंड रत्न रमेश भटट, उपाध्यक्ष केएमवीएन रेनु अधिकारी, डीआईजी जगत राम जोशी, एसएसपी सुनील कुमार मीणा, अपर आयुक्त संजय खेतवाल,अपर जिलाधिकारी केएस टोलिया, प्रधानाचार्य पटवारी प्रशिक्षण संस्थान श्रीष कुमार, संयुक्त निदेशक अकादमी नवनीत पाण्डे, संयुक्त निदेशक दीपक पालीवाल, उपनिदेशक रेखा कोहली, विवेक राय, उपजिलाधिकारी विनोद कुमार, विजय नाथ शुक्ल, डा0 मंजू पाण्डे, डा0 ओम प्रकाश, विवेक सिह सहित मनोज जोशी, मनोज साह, दया किशन पोखरिया,कुन्दन बिष्ट,अकादमी स्टाफ एवं लोक सेवक मौजूद थे।
उत्तराखण्ड राज्य के गठन के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री हैं जो कि शनिवार को उत्तराखण्ड प्रशासन अकादमी नैनीताल पहुचे। उन्होेेने प्रथम बार एकेडमी पहुचकर वहां के प्रशिक्षण कार्यक्रमों को नजदीक से देखा वही विभिन्न राजकीय सेवाओं के लिए चयनित अधिकारियों के सेवा से पूर्व एकेडमी मे दिये जा रहे प्रशिक्षण की जानकारी ली तथा प्रशिक्षणार्थियों से दोतरफा संवाद स्थापित कर उनका मनोबल बढाया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के एकेडमी आगमन में मुख्यमंत्री के सचिव निदेशक एटीआई तथा आयुक्त कुमांयू मण्डल राजीव रौतेला का विशेष प्रयास रहा।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि रौतेला प्रदेश के एक अनुभवी वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी है इनके द्वारा एकेडमी की कमान सभालने के बाद से एकेडमी में प्रशिक्षण की गुणवत्ता में सुधार आया है तथा यहां आने वाले प्रशिक्षणार्थियों को भी नई दिशा मिली है इसके लिए एटीआई के निदेशक बधाई के पात्र है। उन्होने कहा कि रौतेला के मार्गदर्शन मे प्राइमरी स्कूलो के बच्चो के कुमाऊंनी भाषा की जो पुस्तकें तैयार करायी गई है वह उनकी बहुआयामी व्यक्त्वि को दर्शाता है। उन्होने रौतेला की कार्यप्रणाली की प्रशंसा की तथा व शुभकामनायें भी दी।
—————————————


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here