आज जमकर आपने बर्फबारी का लुत्फ उठाया ओर जिन्होंने नही उठाया तो बिना सोचे समय गवाए आपको उत्तराखंड मे होना चाइए , नैनीताल में सीजन की पहली बर्फबारी , धनोल्टी, औली और मुनस्यारी की वादियां भी बर्फ से लकदक है ,


उत्तराखंड  का पहाड़ इस समय बर्फ से ढका हुआ है। बर्फ की
सफेद चादर ने पूरी पहाड़ियों को अपने आगोश मैं लिया हुवा है। आज पर्यटन ओर व्यवसायी भी बेहद खुश हैं। बागेश्वर जिले के कपकोट क्षेत्र के खाती, बाछम, लोधुरा लीती, कर्मी विनायल, कर्मी तोली, धाकुड़ी, खलीधार से लेकर पिथौरागढ़ के मुनस्यारी और धारचूला की ऊंची चोटियों पर जमकर बर्फबारी हो रखी है


इस हिमपात से बहुत से पर्यटक औली की तरफ उमड़ पड़े हैं। अभी रास्ता बंद है। जिसे खोला जा रहा है लेकिन जो पर्यटक वहां पहुंचे हैं वे बर्फ से लकदक ढलानों पर स्कीइंग का खूब मजा ले रहे हैं। यही तो है अपना उत्तराखंड ।
दूसरी तरफ नैनीताल, धनोल्टी, औली और चकराता में बर्फबारी से और भी ठंड बढ़ गई। वहीं सुबह हुई बर्फबारी के बाद से ही औली, गंगोत्री-यमुनोत्री मार्ग बंद हो गए हैं। चमोली और उत्तरकाशी में कई गांवों का संपर्क मुख्य मार्गों से कट गया है।

चमोली जिले में बदरीनाथ धाम के साथ ही हेमकुंड साहिब, रुद्रनाथ, गौरसों बुग्याल, औली सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में दिनभर रुक-रुककर बर्फबारी होती रही जो कि आज भी जारी है। गैरसैंण में भी शुक्रवार सुबह से बर्फबारी हो रही है। भराड़ीसैंण में विधानसभा भवन एवं परिसर के आसपास करीब 6 फीट तक बर्फ पड़ी है। यहां पूरे क्षेत्र में चारों तरफ कोहरा छाया है
बर्फबारी के बाद से चमोली के 25 गांव बर्फ से ढक गए हैं। जोशीमठ-औली, चमोली-मंडल-ऊखीमठ और घाट-रामणी मोटर मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं। जोशीमठ-मलारी हाईवे पर भी मलारी से आगे बर्फ जमने से सेना के वाहनों की आवाजाही थम गई है।

उत्तरकाशी जिले में गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के साथ ही समुद्र सतह से ढाई हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों ने बर्फ की सफेद चादर ओढ़ ली है। उत्तरकाशी के बडकोट में लगातार बारिश बर्फबारी के कारण यमुनोत्री हाईवे रानाचटटी से आगे और राडीटॉप में बाधित हो गया है। जिससे रवांई घाटी का जिला मुख्यालय उत्तरकाशी व गीठ पटटी के 12 गांवो का तहसील मुख्यालय से सम्पर्क कट गया है।  वही मौसम विभाग के अनुसार कल दोपहर बाद मौसम खुलने के आसार है।
तो वही भारी बर्फबारी के बीच चमोली जिले के रामजी में बर्फबारी के बीच बारात मुश्किल से गाँव तक पहुंची ओर बर्फबारी ने इस शादी को यादगार बना दिया।

उत्तराखंड के चमोली में आया भूकंप, लोग घरों से बाहर निकले

बता दे कि देवभूमि उत्तराखंड में आज फिर भूकंप का केंद्र चमोली रहा ओर आज फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए। अभी तक बीते डेढ़ माह में यह छठा मौका है जब उत्तराखंड में धरती डोल उठी।
भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर Earthquake of Magnitude:4.4, Occurred on:13-12-2019, 16:56:48 IST, Lat:30.5 N & Long: 79.6 E, Depth: 14 Km, Uttarakhand , India
थी

ओर चमोली के अलावा किसी और जिले से भूकंप की सूचना नहीं है। राज्य आपदा प्रबंधन केंद्र के अनुसार कहीं से किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं है।
बता दे कि इससे पहले चमोली में ही 8 दिसंबर को 3.2 तीव्रता का भूकंप रिकार्ड किया गया था।  आज चमोली जिले में शाम लगभग चार बजकर 57 मिनट पर धरती डोल उठी।
जिसके बाद चमोली और जिला मुख्यालय में लोग हड़बड़ा कर घरों से बाहर निकल आए। जानकारी अनुसार
इससे पहले बीती 8 दिसंबर,
28 अक्टूबर,
19 नवंबर
और छह दिसंबर
को कुमाऊं के पिथौरागढ़ में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।
कल भी कुछ जिलों मैं स्कूल बंद रहेंगे मौसम के चलते


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here