उत्तराखंड: भारी बर्फबारी से औली मार्ग बंद,

आज सुबह से ही देहरादून सहित अधिकतर जिलों में बादलों का पहरा बना हुवा है तो पहाड़ी जिलो मैं बर्फबारी का दौर आरम्भ हो चुका है कही हल्की बूंदाबांदी हुई, जिससे अब उत्तराखंड में कढ़ाके की ठंड पड़ रही है
धाम केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में लगातार आज सुबह से बर्फबारी हो रही है।
प्रशासन ने स्थानीय लोगों से सतर्कता बरतने के लिए भी कहा है।
वही ख़बर लिखे जाने तक 13 जिलो के उत्तराखंड के 8  जिलो मैं जिनमे

उत्तराखंड के आठ जिलो मैं आज स्कूल बंद रहेगे।

देहरादून, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, चमोली, टिहरी और पिथौरागढ़, नैनीताल और अल्मोड़ा प्रशासन ने आज सभी कक्षा 1 से 12 तक प्राईवेट और सरकारी स्कूलों व आंगनबाड़ी केंद्रों को बंद रखने के आदेश जारी किए हैं

आज  पहाड़ी जिलो मैं बर्फबारी ओर बारिश होने का सकेंत मोसम विभाग दे चुका है।

देहरादून से लेकर  पहाड़ों की रानी मसूरी तक  मौसम ने मिजाज बदला है। यहां हल्की बारिश होने से तापमान में भारी गिरावट आई है। ठंड से लोग बेहाल हैं। तो पालिका प्रशासन द्वारा मसूरी के मुख्य चौराहों पर अलाव की व्यवस्था न होने के कारण गरीब और मजदूर लोगों में खासा आक्रोश है।
टिहरी, श्रीनगर, रुद्रपयाग, टिहरी के भिलंगना क्षेत्र और आसपास के क्षेत्रों में रिमझिम बारिश हुई, जिसके बाद बादल छा गए। केदारनाथ और बदरीनाथ ही ऊंची चोटियों में बर्फबारी जारी है। उत्तरकाशी में सुबह से रिमझिम बारिश हो रही है।
तो चमोली जिले में बदरीनाथ सहित हेमकुंड साहिब, रुद्रनाथ, गोरसों बुग्याल और औली सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है। औली में एक फीट तक बर्फ जम गई है। यहां बर्फबारी के कारण औली से दो किमी. पहले ही मार्ग बंद हो गया हैजिसे खोलने का काम जारी है
वही गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी बर्फबारी हो रही है। टिहरी के ऊंचाई वाले इलाकों गंगी, पिंस्वाड खतलिंग और पंवाली बुग्याल में बर्फ की सफेद चादर बिछ गई है। वहीं चकराता के लोखंडी में भी बर्फबारी होने की खबर है।
तो ऋषिकेश में आज देर रात बूंदाबांदी हुई  हरिद्वार में बादल लगे हैं। यहां ठंड बढ़ गई है। रुड़की में कोहरा छाया रहा। कुमाऊं की बात करें तो यहां अल्मोड़ा, रानीखेत, लोहाघाट, चौखुटिया, रीठा साहिब , नैनीताल और रुद्रपुर में सुबह से बादल छाए हैं। टनकपुर में हुई हल्की बूंदाबांदी हुई।  मुनस्यारी के कई इलाकों में बर्फ़बारी और बारिश रुक-रुक कर जारी है। मुनस्यारी के खलिया में 4 इंच,कालामुनी में3 इंच, बलाती में 3 इंच,नागनीधूरा में 8 इंच, मिलम  में 18 इंच और रालम में  2 फिट तक बर्फ पड़ चुकी है। मुनस्यारी का न्यूनतम तापमान -1 डिग्री और अधिकतम 09 डिग्री है।

कालामुनी, खलिया, बेटुलीधार और बलाती में आज से मौसम की पहली बर्फ़बारी हो रही है। बेटुलीधार और उसके आसपास पर्यटक बर्फ़बारी का लुत्फ़ उठा रहे हैं। प्रशासन द्वारा बर्फ़बारी की सम्भावना को देखते हुए बड़ी संख्या में मुनस्यारी बाज़ार में अलाव की व्यवस्था की है। उपजिलाधिकारी भगत सिह फोनिया ने बर्फ़बारी को देखते हुए सभी विभागों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं। मौसम विभाग ने आज उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ के ज्यादातर 2500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले स्थानों पर तेज बारिश और बर्फबारी का अलर्ट जारी किया है। देहरादून, टिहरी, नैनीताल व अल्मोड़ा के कुछ अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ गिर सकती है। और कल राज्य के कई क्षेत्रों में ओले भी गिर सकते हैं।
वही देवाल के वेदनी, आली बुग्यालों व रूपकुंड में हल्की बारिश हुई। व्यापार संघ बृजेश बिष्ट, समीर मिश्रा, हरिकृष्ण भट्ट आदि ने नगरों में ठंड से बचने के लिए अलाव जलाने की मांग की

 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here