सुनो उत्तराखंड ओर यहा आने वाले साहब लोगों दो दिन तक पूरा कोल्ड डे कंडीशन।
हाड़ कंपाने वाली ठंड के साथ बर्फबारी


जी हा मौसम विभाग ने आज उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ तक 2500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले स्थानों पर तेज बारिश और बर्फबारी का अलर्ट जारी किया है। वही ख़बर है कि कम ऊंचाई वाले इलाकों में भी बारिश और बर्फबारी हो सकती है।
तो कल यानी 13 दिसंबर को उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर व पिथौरागढ़ मै फिर ज्यादातर 2500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले स्थानों पर तेज बारिश व बर्फबारी होने का अनुमान है।
देहरादून बोले तो मसूरी , टिहरी, नैनीताल व अल्मोड़ा के कुछ अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ गिर सकती है। तो वही आज और कल राज्य के कई क्षेत्रों में ओले भी गिर सकते हैं।


बीते कल यानी बुधवार को जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर हिमपात भी हुआ।
वही ऊंची चोटियों पर भारी हिमपात, निचले इलाकों में ओलावृष्टि और तेज बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी किया है। अधिकारियों को अपने-अपने कार्यस्थल पर बने रहने के निर्देश दिए गए हैं।
वही मुनस्यारी और धारचूला की ऊंची चोटियों, दारमा और व्यास घाटी क्षेत्रों में भारी हिमपात हुआ है।  सड़कों में पाला गिरने से वाहनों के भी फिसलने का खतरा भी बना हुआ है। शीत लहर को देखते हुए आज प्रदेश के मुख्य सचिव वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जिलों की समीक्षा करेंगे।
वही कल केदारनाथ धाम में शाम चार बजे के बाद से हल्की बर्फबारी का सिलसिला शुरू हो गया है वहा का तापमान माइनस 4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। तड़के धाम में घने बादल छाए थे, इस दौरान बर्फबारी की संभावना भी बनी, लेकिन 7.30 बजे से मौसम में सुधार होते ही केदारपुरी में हल्की धूप खिली रही। तीन बजे के बाद तक यहां मौसम ठीक रहा।
वही आदिगुरु शंकराचार्य के समाधि स्थल के पुनर्निर्माण समेत अन्य कार्य तेजी से होते रहे, लेकिन जब कल लगभग चार बजे के बाद जब मौसम ने करवट बदली तो हल्की बर्फबारी शुरू हो गई।
मीडिया को वुड स्टोन के टीम प्रभारी मनोज सेमवाल ने बताया कि बीते चार दिनों तक धाम में मौसम सुहावना था, जिससे यहां कार्य तेजी से हो रहे थे। लेकिन आज, मौसम के खराब होने से ठंड बढ़ गई है। धाम में अधिकतम तापमान 10 डिग्री व न्यूनतम माइनस 4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। रात को यहा पारा माइनस 10 तक गिर रहा है, जिससे कड़ाके की ठंड पड़ रही है बहराल ठंड का मज़ा तो लीजिए पर सावधानी से।
भाई।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here