दुःखद है वो नियम का पालन करने घर से निकली थी पर उस दादी को क्या पता था कि जिस नियम का वे पालन करने घर से निकली है उसके कुछ देर बाद ही वो दुनिया को अलविदा कह देगी दुःखद। जी हां आज उत्तराखंड मैं कुछ ये ही हुवा बता दे कि एक दादी अपनी पेंशन के लिए बैंक में जीवित प्रमाण पत्र जमा कराने गई थी और जमा करने के बाद 85 साल की आनंदी देवी फिर अपने बेटे के साथ स्कूटी पर घर लौट ही रही थीं कि इस दौरान उनकी स्कूटी रपटी और दादी का सिर जमीन पर जोर से लग गया इस हादसे मैं उनकी मौत हो गई दुःखद।
जिसके बाद पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया।
इस घटना से पूरा परिवार शोकाकुल है
ये पूरी घटना उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के मूनाकोट विकास खंड की है जहा गौछ मणमानले निवासी आनंदी देवी गुरुवार की सुबह अपने बेटे के पास पहुंची। बता दे कि उनका बेटा भुवन टकाना में रहता है।
फिर दोनों ही आनंदी की पेंशन के लिए बैंक में जीवित प्रमाण पत्र जमा कर लौट रहे थे कि तभी बैंक से 150 मीटर आगे कोतवाली के पास स्कूटी बारिश के दौरान रपट गई। ओर वृद्ध महिला का सिर सड़क पर बुरी तरह टकरा गया और घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई दुःखद।
बताओ समय भी क्या दिन दिखता है किसे मालूम था कि इस तरह दादी दुनिया को अलविदा कह देगी।
दुःखद।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here