ग्लैमर दुनिया को छोड पहाड़ की बेटी अनुकृति गुसाई कर रही है वो काम कि महामहिम राज्यपाल जी सहित मंत्री हरक सिंह रावत बोले आप बधाई के पात्र है।

गढ़वाल के द्वार कोटद्वार स्थित महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्थान द्वारा आयोजित उनकी संस्था के प्रथम वर्षगांठ के उपलक्ष में आयोजित कार्यक्रम में वन मंत्री डा0 हरक सिंह रावत जी द्वारा विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया गया। इस कार्यक्रम में महामहिम राज्यपाल महोदया श्रीमती बेबी रानी मौर्य जी मुख्य अतिथि के रूप में सम्मलित हुई।

आपको बता दे कि यह बडे ही हर्ष का विषय है कि महिला उत्थान के क्षेत्र में कार्य कर रही संस्था महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्थान के इस कार्यक्रम में महामहिम राज्यपाल जी महोदया द्वारा स्वयं सम्मलित होने की इच्छा जतायी गयी। महामहिम राज्यपाल महोदया जी ने बताया की उनके द्वारा इस कार्यक्रम में सम्मलित होने का मुख्य कारण महिलाओं के उत्थान हेतु कार्य कर रही संस्था का मनोबल बढाना था। साथ ही महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्थान से 10 हजार महिलाएं जोड़ने पर बडी उपलब्धि बताया। माननीय राज्यपाल महोदया द्वारा संस्थान की अध्यक्षा श्रीमती अनुकृति गुसाईं रावत को इतनी कम उम्र में इतने अनुकरणीय कार्यों हेतु सराहा गया


इस कार्यक्रम में उपस्थित सूबे के कैबिनेट मंत्री तथा विशिष्ट अतिथि डा हरक सिंह रावत ने कहा कि सरकार की योजना महिलाओं को विकास कार्याें से जोडकर उनकी आर्थिकी को मजबूत कर उन्हें सशक्त बनाने की है, जिसमें सरकार उत्तरोत्तर गति से आगे कदम बढा रही है। माननीय मंत्री महोदय ने यह भी बताया कि श्रम विभाग श्रमिको के उत्थान के लिए अनके कल्याणकारी योजनाएं बना रहा है।


मंत्री डाॅ हरक सिंह रावत ने अपने उद्धोधन में कहा कि जिस तरहा से महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्थान महिलाओं को उनकी रूचियों के अनुरूप विभिन्न रोजगारपरक योजनाओं से जोडकर उनके जीवन को सजाने और सवारने की दिशा में अहम भमिका निभा रहा है, वह प्रशंसनीय है।


मंत्री हरक सिंह ने कहा कि संस्थान महिलाओं को रोजगारपरक योजनाओं से जोडकर महिला सशक्तीकरण की दिशा में अभूतपूर्व कार्य कर रहा है उसके लिए बधाई के पात्र है। मंत्री हरक सिंह द्वारा महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्थान द्वारा महिलाओं को ट्रेनिंग देकर उन्हें स्वरोजगार से जोडने के लिए कार्य किये जाने पर बधाई दी


इस मौके पर श्रम मंत्री डा हरक सिंह रावत द्वारा श्रम विभाग में पंजीकृत मजदूरों तथा उनके परिवारों कोे उत्तराखण्ड भवन एवं संनिर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के माध्यम से सहायता धनराशि के चैक वितरित किये गये।

केन्द्र की अध्यक्षा और मिस इंडिया पैसिफिक श्रीमती अनुकृति गुसाई रावत का कहना है कि केन्द्र में प्रशिक्षण देकर महिलाओं को सशक्त बनाकर उन्हें स्वयं के रोजगार के लिए बढावा दिया जाएगा। संस्थान द्वारा महिलाओं को सिलाई-बुनाई समेत आचार, पापड बनाने का प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार से जोडा जा रहा है। उत्तराखण्ड की अधिकाधिक महिलाओं को संस्थान से जोडकर रोजगार उपलब्ध कराना ही संस्थान का लक्ष्य है। इसके लिए महिलाओं का स्वयं सहायता समूह भी गठित किया गया है। संस्था द्वारा श्रमिक परिवारों के 50 बच्चों को गोद लिया गया है जिनके पालन पोषण से लेकर शिक्षा की समस्त जिम्मेदारी संस्थान द्वारा उठाया जा रहा है।


यह महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्थान की अध्यक्षा श्रीमती अनुकृति गुसाई रावत की दृढ़ इच्छा शक्ति का ही नतीजा है की उन्होंने ग्लैमर दुनिया को छोड खुद को महिलाओं के उत्थान के लिए समर्पित कर दिया।
संस्थान की अध्यक्षा श्रीमती अनुकृति गुसाई रावत ने संस्थान द्वारा किए जा रहे कार्यों और संस्थान की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला।

इस उपलक्ष पर स्कूली बच्चों द्वारा विभिन्न रगांरग कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये जो कि अत्यंत प्रशंसनीय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here