उत्तराखंड : खाई में गिरा वाहन चालक समेत दो लोगों की मौत, नौ घायल दुःखद

दुःखद ख़बर ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे से आई जहा पर एनएचपीसी दफ्तर के पास एक टैक्सी वाहन अनियंत्रित होकर खाई में जा गिर गया।
ओर इस दर्दनाक दुर्घटना में वाहन चालक व उन्नाव के एक बुजुर्ग यात्री की जान चली गई। जबकि जानकारी अनुसात नौ यात्री घायल बताये जा रहे है जानकारी अनुसार इस गाड़ी मैं 10 लोग सवार थे इस हादसे मै 4 लोग गंभीर घायल हुए और इन घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र देवप्रयाग से मेडिकल कॉलेज श्रीनगर रेफर किया खबर लिखे जाने तक इनका इलाज़ जारी था
ये वाहन हरिद्वार से कर्णप्रयाग जा रहा था। मंगलवार को हुई इस घटना में वाहन चालक 54 साल के रतनलाल पुत्र गढ़ीराम रेलवे रोड ,ज्वालापुर हरिद्वार की मौके पर ही मौत हो गई। घायलों को स्थानीय निवासी राजेंद्र पंवार समेत पुलिस व स्थानीय लोग सड़क पर लाए। जहां से उन्हे सीएचसी देवप्रयाग भेजा गया। उन्नाव के 80 साल के रामकुमार को सीएचसी रेफर करने की तैयारी चल रही थी।इसी दौरान उन्होंने भी दम तोड़ दिया दुःखद
जबकि मुन्ना सिंह निवासी ग्राम सेम कर्णप्रयाग, उनकी पुत्री सपना पत्नी अनुज निवास लखनऊ, दिशा पंवार उर्फ तृष्णा निवासी रुद्रप्रयाग,  बलवीर चंद्र निवासी ग्वाड़ (गोपेश्वर), धनेश केष्टवाल निवासी लक्ष्मणझूला ऋषिकेश व भूपेंद्र पंवार निवासी महेंद्रगांव कीर्तिनगर सहित उन्नाव (उत्तर प्रदेश) निवासी रामकुमार चतुर्वेदी, ललितकुमार, और वीरेंद्र कुमार घायल हो गए।
वहीं थाना प्रभारी महिपाल रावत ने बताया कि  हाथ-पांव में फैक्चर होने की वजह से धनेश, मुन्ना व भूपेंद्र को मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर किया गया है। विपरीत दिशा से आ रही बस से टकराने से बचने का प्रयास करने पर ये वाहन खाई में जा गिरा। वहीं जानकारी अनुसार उन्नाव निवासी वीरेंद्र कुमार ने बताया कि खाई में गिरने से लगभग 5 मिनट पहले चालक ने वाहन रोककर ब्रेक व टायर चेक किए थे। चालक ने ब्रेक में गड़बड़ी आने की बात कही थी। वहीं वीरेंद्र ने बताया कि उनको बुधवार को बदरीनाथ के लिए निकलना था। लेकिन बस न मिलने पर वह हरिद्वार से टैक्सी में सवार हो गए।
दुःखद है पहाड़ो मै इस प्रकार की सड़क दुर्घटना का होना अगर वीरेन्द्र जी की बात सही है कि चालक को मालूम चल गया था कि ब्रेक मैं गड़बड़ी आ रही है तो उनको गाड़ी आगे बढ़ानी ही नही चाहिए थी जब तक समस्या का समाधान ना हो जाये हो सकता है चालक ब्रेक लगाने की कोशिश करता रहा हो और ब्रेक ना लगने के कारण गाड़ी खाई मैं गिर गई।
जो भी हुवा बहुत दुःखद।है
बस हम तो आप से यही कहेंगे कि साहब जान आपकी ही है
ओर घर पर सब आपका इंतजार कर रहे है इसलिए सर जागरूक रहे।ना गलती करे ना ग़लती चालक से होने दे।
देर ही तो होगी साहब इससे ज्यादा क्या होगा।
ज़िन्दगी है तो सब कुछ है।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here