देहरादून।

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन की प्रेस कांफ्रेंस

आईआईपी देहरादून में स्थापित किया गया संयंत्र

सफलतापूर्वक देश को बड़ा प्लांट समर्पित करने बड़ा मौका मिला है

प्लास्टिक कचरे से डीजल बनाने के प्लांट का शुभारंभ करने का मौका मिला

एक टन प्लास्टिक कचरे से 800 लीटर डीजल बनाएंगे।

पूरी दुनिया प्लास्टिक फ्री बनाने की ओर प्रयासरत

प्लास्टिक पर्यावरण के लिए बेहद घातक

आईआईपी के वैज्ञानिकों की बड़ी उपलब्धि।

एनजीओ की मदद से प्लास्टिक कचरे को इकट्ठा करेंगे

इससे लोगों को रोजगार मुहैया होगी

इससे बड़ा 10 टन का प्लांट बनेगा और इसका खर्चा तीन साल में पूरा हो जाएगा

पर्यावरण संरक्षण के लिए बड़ी मदद मिलेगी

कई वर्षों के शोध के चलते बायोफ्यूल के बाद आईआईपी अब प्लास्टिक से बड़े पैमाने पर डीजल व पेट्रोल का उत्पादन करने जा रहा है।

इससे देश में पेट्रोलियम पदार्थों को लेकर अन्य देशों पर निर्भरता कम होगी

देश का कचरा साफ होगा और इकोनॉमिक ग्रोथ बढ़ेगा

सभी लोगों से केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने सहयोग की अपील की।


तो वही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लिखा कि
केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री Dr. Harsh Vardhan जी के साथ IIP देहरादून में वेस्ट प्लास्टिक से डीजल बनाने वाले संयंत्र का शुभारंभ किया। इस संयंत्र से प्रतिदिन 1 टन प्लास्टिक का निस्तारण किया जा सकेगा। प्लास्टिक मुक्त समाज की दिशा में यह महत्वपूर्ण कदम साबित होगा। यह संयंत्र GAIL (India) Limited और CSIR- IIP, Dehradun द्वारा स्थापित किया गया है।

बधाई आप सबको।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here