भगवान सिंह की रिपोर्ट।

ख़बर उत्तराखंड के श्रीनगर से है जहा से पीएम मोदी को खून से पत्र लिखा गया है।

आपको बता दे कि
देवप्रयाग  के कुुुछ  लोगो  ने प्रधानमंत्री को भेजा है खून से लिखा पत्र

ये लोग देवप्रयाग से पौड़ी शिफ्ट हुई NCC एकेडमी का विरोध कर रहे है।

 


ओर इन्होंने प्रधानमंत्री मोदी जी से देवप्रयाग से शिफ्ट हुई NCC एकेडमी को वापस लाने की है मांग की है।

वही उन लोगो का विरोध स्वरूप कुछ दिनों से हिंडोलाखाल में धरना प्रदर्शन भी चल रहा है।


वही इससे पहले मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने विपक्ष द्वारा उठाए जा सवालों को खारिज कर दिया था उन्होंने कहा कि किसी संस्थान को तब शिफ्ट किया जाता है जब वह कहीं स्थापित हो। जो लोग एनसीसी अकादमी के देवप्रयाग में स्थापित होने की बात कह रहे हैं, वे बताएं कि वो कहां स्थापित है? वही उन्होंने कहा था कि पूर्ववर्ती सरकार ने हवा में ऐसे हजारों शिलान्यास कर दिए थे।


बहराल हम तो सिर्फ यही जानते है कि जो कुछ भी अच्छा हो वो पहाड़ मैं ही हो, फिर वो देवप्रयाग हो, रुद्रप्रयाग हो, पौड़ी हो ,कर्णप्रयाग हो, या फिर कोटद्वार हो या  टिहरी मैंं ,कुल मिलाकर पहाड़ से कुछ जाना नही चाहिए और ये सब क्षेत्र पौड़ी लोकसभा के अंतर्गत  आयेे या  टिहरी लोकसभा  क्षेत्र के  अंतर्गत  पर आना चाहिये  जाना कुछ नही। बहराल  लोकतंत्र मैं सबको अपनी आवाज उठाने ओर बात रखने का अधिकार है। बाकी जो कुछ भी पहाड़ के भले के लिए आये या लगे उनका स्वागत है।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here