अपने उत्तराखंड में आजकल तेंदुओं का खूब आतंक फैला हुआ है। जो कोई नई बात नही अपने उत्तराखण्ड के लिए  अक्सर हम दर्द भरी ख़बर को सुनते है  जिससे दिल हमारा रो जाता है  बस सरकार से माग ही कर सकते  है कि इस  यदि कोई जानवर वो बाघ हो या हाथी  उनके द्वारा किसी मानव की जान चली जाती है तो उनके परिवार मे से किसी एक व्यक्ति को ,महिला को  सरकारी नोकरी मिले।

अक्सर दुःखद ख़बर सुनने को आये दिन हमको मिल ही जाती है बता दे कि देहरादून जिले के रायवाला में तेंदुए ने एक महिला को अपना शिकार बना लिया दुःखद तो वहीं पहाड़ के पिथौरागढ़ में एक तेंदुआ घर में घुस गया और बच्चे पर झपट पड़ा दुःखद है देहरादून के रायवाला क्षेत्र में गाय चराने गई महिला को गुलदार ने मार डाला यही नही ये गुलदार महिला को लगभग 200 मीटर रेलवे ट्रैक से दूर खींचकर अंदर घने जंगल तक ले गया। वही गुलदार के हमले के बाद अभी तक क्षेत्र में दहशत का माहौल साफ तौर पर देखा जा रहा है है। कल सूचना पर पहुंची वनकर्मियों और पुलिस की टीम ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था अब तक यहां बीते पांच सालों में गुलदार 24 लोगों को अपना शिकार बना डाला है ।
कल प्रतीतनगर स्थित वैदिकनगर निवासी फ्यौंला देवी 65 वर्ष पत्नि स्व. सूरत सिंह गाय चराने घर के पास से गुजर रहे देहरादून रेलवे ट्रैक से होते हुए कुछ दूरी तक जंगल में गई हुई थी। तभी गुलदार ने उस पर हमला कर दिया। गुलदार महिला को रेलवे ट्रैक से घसीटते हुए जंगल के अंदर ले गया, जहां उसने महिला को निवाला बना लिया। काफी देर होने के बाद जब महिला घर नहीं लौटी तो उसके परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। अनहोनी की आशंका जताते हुए ट्रैक की ओर भी पड़ताल शुरू की गई। काफी ढूंढने पर ट्रैक से कुछ दूरी पर महिला की चप्पल और शव को खींचकर ले जाने के निशान झाड़ियों में देखे गया दुःखद
इसके बाद मौके पर वनकर्मियों की मदद से हवाई फायर झोंककर जंगल में प्रवेश किया गया। फिर लगभग 1 घंटे भर की तलाशी अभियान के बाद घने जंगल में महिला का क्षत विक्षत शव बरामद हुआ।
बता दे कि उत्तराखंड के कि चाहे चिन्यालीसौड़ ब्लॉक के हवाई अड्डे सहित अन्य आबादी वाले क्षेत्रों की बात हो या किसी ओर जिले की आये दिन समय समय पर गुलदार की सक्रियता के कारण लोगों में दहशत का माहौल बना रहता है तो भयभीत लोगों ने वन विभाग से क्षेत्र में गश्त बढ़ाकर गुलदार के आतंक से निजात दिलाने की मांग अक्सर करते रहते है
अब पिथौरागढ़ जिला मुख्यालय की बात करूं तो यहा के एक गांव में घर में घुसकर तेंदुए ने पांच साल की मासूम बच्चे पर झपटा मार कर उसे घायल कर दिया। उस बच्चे के पिता ने साहस जुटा कर हल्ला मचाया फिर तेंदुआ भाग गया। इस बच्चे के गाल पर तीन टांके लगे हैं।  ओर ये पूरी घटना शुक्रवार रात की है जब लगभग देर स्याम पपदेव गांव में विनीत वर्मा की पत्नी अपने दो मंजिले मकान की रसोई में खाना बना रही थीं। ओर उनका पांच साल का बेटा हर्षित बरामदे में खेल रहा था। ठीक उसी समय उनके दो मंजिले मकान में तेंदुआ घुस आया और बरामदे में खेल रहे हर्षित पर झपट गया पिता ने जेसे तैसे अपने बच्चे की जान बचाई।बहराल ये कोई पहली बार का की बात नही है हर बार राज्य के किसी ना किसी जिले से ये दर्द भरी खबर आती रहती है। जो हमको भी दर्द दे जाती है।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here