सचिवालय कूच कर रहे योग प्रशिक्षितों को पुलिस ने रोका  

देहरादून। प्राथमिक विद्यालयों में योग प्रशिक्षितों की नियुक्ति की मांग को लेकर योग प्रशिक्षितों ने प्रदर्शन कर धरना दिया। जैसे ही उन्होंने सचिवालय कूच करने के लिए धरनास्थल से बाहर निकलने का प्रयास किया तो पुलिस ने सभी की घेराबंदी करते हुए उन्हें वहीं पर रोक लिया और बाद में पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया।
यहां परेड ग्राउंड स्थित धरना स्थल पर योग प्रशिक्षित बेरोजगार महासंघ के अध्यक्ष डा. राकेश सेमवाल के नेतृत्व में इकटठा हुए और वहां पर उन्होंने प्रदेश सरकार की जन विरोधी नीतियों व प्राथमिक स्तर के विद्यालयों में योग प्रशिक्षितों की नियुक्ति की मांग को लेकर प्रदर्शन कर धरना। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि लंबे समय से अपनी मांग के समधान के लिए आंदोलनरत है लेकिन अभी तक उनकी मांगों का निदान नहीं हो पाया है। राज्य में अभी तक प्राथमिक स्तर की शिक्षा में योग शिक्षा को शमिल नहीं किया जा रहा है और पाठय पुस्तकों को वर्ष 2010 से लगातार बांटी जा रही है पर पढ़ाने के लिए शिक्षकों की नियुक्ति अभी तक नहीं हुई है। पिछले आठ साल से नियुक्ति की मांग को लेकर संघर्ष किया जा रहा है लेकिन अभी तक उनकी नियुक्ति नहीं हो पाई है। योग शिक्षा को शिक्षा में शामिल करने के लिए तीन बार कैबिनेट की बैठक में प्रस्ताव पास हो चुका है लेकिन अभी तक नियुक्ति नहीं हो पाई है।
उन्होने कहा कि राज्य में हजारों योग प्रशिक्षित बेरोजगार है और सरकार के मानकों के आधार पर उनकी अधिकतम आयु सीमा भी समाप्त होती जा रही है और शिक्षा एवं स्वास्थ्य दोनों को विशेष ध्यान में रखते हुए साथ ही हजारों योग डिप्लोमा एवं डिग्री धारकों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए शिक्षा व्यवस्था में योग को अनिवार्य विषय के रूप में लागू किया जाये। इस अवसर पर धरने के बाद दोपहर में योग प्रशिक्षितों ने सचिवालय कूच करने का निर्णय लिया लेकिन पुलिस ने सभी की घेराबंदी करते हुए उन्हें धरना स्थल पर रोक लिया और इस बीच पुिलस व प्रदर्शनकारियों में तीखी नोंकझोंक हुई और बाद में पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया और पुलिस लाईन ले गई। इस अवसर पर महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष डा. राकेश सेमवाल, रोहित बिष्ट, मनोज सिंह, बिजेन्द्र कुमार, बबीता, प्रियांशु, सीमा, नीता, संदीप शाह सहित अनेक योग प्रशिक्षित मौजूद थे।

Leave a Reply