दून आॅटो यूनियन ने नये परमिट दिये जाने का किया विरोध

देहरादून । गढ़वाल मंडलायुक्त की अध्यक्षता में आरटीए की बैठक में दून आॅटो यूनियन ने नये परमिट न दिये जाने का विरोध किया और कहा है कि राजधानी में कई ई रिक्शा बिना रजिस्ट्रेशन के दौड़ रहे हंै उन पर किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है और कई का पंजीकरण हो चुका है। यहां ई सी रोड स्थित गढ़वाल मंडलायुक्त कार्यालय में आरटीए की बैठक आयोजित की गई और जिसमें अनेक बिन्दुओं पर चर्चा की गई। इस बैठक से पहले ही दून आॅटो यूनियन ने नये परमिट दिये जाने का विरोध करने का ऐलान किया। यूनियन के संरक्षक इन्द्रजीत कुकरेजा ने कहा कि आज जिस प्रकार से दून की आबोहवा खराब हो रही है और इससे बचने के लिए नये परमिट जारी नहीं किये जाने चाहिए और जिस प्रकार से हर घर में चार चार गाड़िया हंै और 2400 आॅटो दून की सडकों पर दौड़ रहे है और विक्रम पांच से दस रूपये तक का किराया लेते आ रहे हंै और आॅटो  यूनियन स्कूली बच्चों को भी छोडने का काम कर रहे है और 25 किलोमीटर रेडियल लागू किया गया है। यदि कोई पर्यटक चार स्थानों का भ्रमण करता है तो उनका चालान कर दिया जाता है और आॅटो यूनियन यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए हरसंभव प्रयासरत है जिस प्रकार से ई रिक्शा की बैटरी को प्राइवेट से चार्ज किया जा रहा है जिससे राजस्व की हानि हो रही है और इस दिशा में भी कार्यवाही करने की जरूरत है।
उनका कहना है कि आॅटो यूनियन को भी फुटकर सवारी उठाने का अवसर पर दिया और वह भी दस रूपये में सवारी छोड़ सकते है, लेकिन कम से कम पांच यात्री होने चाहिए लेकिन उन्हें इस प्रकार की कोई अनुमति नहीं दी जाती है और उनका कहना है कि नये परमिट का पुरजोर तरीके से विरोध किया जायेगा। इस अवसर पर यूनियन के अध्यक्ष पंकज अरोडा आदि भी मौजूद थे।

Leave a Reply